सीएए से करोड़ों शरणार्थियों की रक्षा के साथ-साथ भारतीय नागरिकता भी मिलेगी

- बजरंग दल प्रांत अधिवेशन एवं समिति सम्मेलन का समापन

By: Narendra Kuiya

Published: 01 Mar 2020, 11:07 PM IST

ग्वालियर. बजरंग दल का दो दिवसीय प्रांत अधिवेशन रविवार को दयाल नर्सिंग कॉलेज, शिवपुरी लिंक रोड एवं मेला ग्राउंड स्थित ग्राण्ड पैलेस गार्डन में संपन्न हुआ। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जो सीएए पारित किया है उससे भारत में आए हुए करोड़ों हिन्दू, सिख, जैन, बौद्ध शरणार्थियों की रक्षा होगी और उन्हें भारतीय नागरिकता भी मिलेगी। जिले के समिति सम्मेलन में 350 मोहल्ला समितियों का गठन कर उनकी सूचियों को भेंट किया गया।
सम्मेलन को आगे संबोधित करते हुए विहिप के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद भी सीएए के बारे में चलाए जा रहे दुष्प्रचार व भ्रांतियों को दूर करने तथा पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बंग्लादेश में प्रताडि़त अल्पसंख्यकोंं को नागरिकता दिलाने में पूर्ण सहयोग करेगी। श्रीराम जन्मभूमि के मंदिर निर्माण के लिए सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद विश्व हिन्दू परिषद ने संपूर्ण देश में एक विराट कार्यक्रम की घोषणा की है। 25 मार्च से लेकर 7-8 अप्रेल तक देश भर में दो लाख से अधिक गांवों तक जाकर रथयात्राओं के माध्यम से रामोत्सव के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होंंने आगे बताया कि हाल ही में विश्व हिन्दू परिषद ने हिन्दू समाज को संगठन से जोडऩे के लिए हित चिंतक अभियान चलाया जिसमें 30 लाख से अधिक हिन्दू संगठन के साथ नए जुड़े हैं। समाज के गरीब और वंचित वर्ग की सहायतार्थ विहिप संपूर्ण देश में 1 लाख से ज्यादा शिक्षा, चिकित्सा, महिला सशक्तिकरण तथा कौशल विकास के क्षेत्र में वृहद सेवा कार्य चला रही है। उत्तरप्रदेश में भी इन सेवा कार्यों के बहु-आयामी विस्तार की योजना है।
ये रहे मौजूद
सम्मेलन में विहिप की केन्द्रीय मंत्री मीनाक्षी ताई पिशवे, भोपाल क्षेत्र के क्षेत्रीय संगठन मंत्री दिनेश उपाध्याय, क्षेत्रीय मंत्री राजेश तिवारी, प्रांत मंत्री पप्पू वर्मा, प्रांत संगठन मंत्री खगेन्द्र भार्गव, प्रांत संयोजक सुशील सुडेल, जिलाध्यक्ष मुकेश अग्रवाल, अम्बिका प्रसाद पचौरी, पीताम्बर लोकवानी, मनोज रजक आदि मौजूद थे।
समाजकंटकों को कुचलने की जरूरत
पत्रकारों से चर्चा में विहिप के केंद्रीय मंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि संविधान की रक्षा करने तथा अहिंसा का ढोंग रचने वाले समाजकंटकों को प्रशासन की ओर से कठोरता से कुचलने की आवश्यकता है। देश विरोधी और भडक़ाऊ भाषण जगह-जगह दिए जा रहे हैं। ऐसा लगता है कि देश में अल्पसंख्यक तुष्टीकरण की राजनीति करने वाले राजनेता तथा राजनीतिक दलों ने ट्रंप के प्रवास के दौरान भारत की प्रतिष्ठा विश्व समुदाय में बिगाडऩे की दृष्टि से ही दिल्ली में हिंसा की साजिश की है। विहिप इसकी कड़ी निंदा करती है।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned