अमरयात्रा पर आतंकी हमले के बाद यहां फंसे हुए हैं ग्वालियर और डबरा के जत्थे

अमरनाथ यात्रा के लिए ग्वालियर से गए अमरनाथ यात्रा सेवा समिति के 62 और डबरा से 70 लोग सुरक्षित हैं। समिति के संयोजक बबलू शिवहरे के मुताबिक ग्वालियर का दल 3 जुलाई को भारत ढींगरा के नेतृत्व में यहां से रवाना हुआ था।

अनंतनाग/ग्वालियर।  सावन के पहले सोमवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने पवित्र गुफा के दर्शन करके लौट रहे अमरनाथ यात्रियों पर हमला कर दिया। हमला सोमवार रात करीब 8:20 बजे अनन्तनाग जिले बोटेंगू और खानबाल इलाके में हुए। बाइक सवार भारी हथियारों से लैस दो आतंकियों ने पुलिस पार्टी पर हमला किया।

इस दौरान आतंकियों ने तीर्थयात्रियों से भरी एक बस (जीजे09 जे-9976) पर गोलीबारी कर दी। हमले में पांच महिलाओं समेत सात तीर्थयात्रियों की मौत हो गई, जबकि 12 घायल हो गए। घायलों में तीन जवान हैं। आतंकी हमले के बाद श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर यातायात बंद कर दिया गया।  आईजी पुलिस मुनीर खान के अनुसार बस किसी काफिले का हिस्सा नहीं थी। न ही श्राइनबोर्ड में रजिस्टर्ड थी, इस वजह से यह सुरक्षा घेरे में नहीं थी। हमले के पीछे लश्कर के आतंकियों का हाथ बताया जा रहा है। जिस जगह हमला हुआ वहां घना जंगल है और कुछ लोग अस्थाई बसेरा बना कर वहां रह रहे थे। पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

ग्वालियर और डबरा के यात्री सुरक्षित
अमरनाथ यात्रा के लिए ग्वालियर से गए अमरनाथ यात्रा सेवा समिति के 62 और डबरा से 70 लोग सुरक्षित हैं। समिति के संयोजक बबलू शिवहरे के मुताबिक ग्वालियर का दल 3 जुलाई को भारत ढींगरा के नेतृत्व में यहां से रवाना हुआ था। इस दल ने बाबा के दर्शन कर लिए हैं और ये अभी श्रीनगर में हैं। वहीं डबरा के 70 श्रद्धालुओं का दल 7 जुलाई को हुकुमत राय बत्रा के साथ यहां से रवाना हुआ था। इस दल के कुछ यात्री बालटाल और कुछ बाबा की गुफा पर हैं। ये श्रद्धालु भी सुरक्षित हैं और 17-18 जुलाई को शहर वापस लौटेंगे। 

इस साल 1.2 लाख यात्री और 12वां दिन...
29 जून से शुरू हुई इस यात्रा में इस साल 1.2 लाख यात्रियों ने रजिस्टर्ड करवाया है। इससे पहले आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर सुरक्षा कारणों से यात्रा को रोक दिया गया था। घाटी में हो रहे प्रदर्शन और रैली के मद्देनजर तीन शहरों में अभी भी कफ्र्यू जारी है। हालात यह हैं कि पूरे कश्मीर में लोग अपने घरों में दुबके बैठे हैं। इंटेंलिजेंस एजेंसी इस तरह के हमले की पहले ही चेतावनी दी थी। 

आतंकी हमला कायराना हरकत है। इस अमानवीय कृत्य के लिए मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।
शिवराज सिंह चौहान, सीएम
Show More
Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned