scriptAnother challenge... more than a thousand self-testing kits sold in 10 | एक और चुनौती...ग्वालियर में 10 दिन में एक हजार से अधिक बिकीं सेल्फ टेस्टिंग किट, ऑनलाइन बेहिसाब | Patrika News

एक और चुनौती...ग्वालियर में 10 दिन में एक हजार से अधिक बिकीं सेल्फ टेस्टिंग किट, ऑनलाइन बेहिसाब

- ऑनलाइन बिक्री से सरकार के पास नहीं आ रहा कोरोना टेस्टिंग का पूरा डाटा
- प्रदेश सहित दूसरी जगहों पर मेडिकल स्टोर में बिक्री पर लगाया जा रहा प्रतिबंध, फिर हमारे यहां रोक क्यों नहीं

ग्वालियर

Published: January 15, 2022 10:14:03 am

ग्वालियर. ग्वालियर में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। वहीं इस बार घर में ही कोरोना जांच का चलन तेजी से बढऩे लगा है। दवा दुकानों में बिक रहे कोरोना सेल्फ टेस्टिंग किट के जरिए ऐसे लोग घर में कोरोना का पता लगाने के लिए टेस्ट कर रहे हैं, जो सर्दी-बुखार से पीडि़त हैं। यही कारण है कि शहर में मेडिकल स्टोर्स में कोरोना सेल्फ टेस्ट किट की बिक्री पिछले 10 दिनों में ही एक हजार से अधिक का आंकड़ा पार कर चुकी है। ऐसे में यह सुविधा ही संक्रमण का खतरा बनती जा रही है। जो लोग इस किट से घर में ही कोरोना का टेस्ट कर रहे हैं, उनका डाटा प्रशासन या सरकार के पास नहीं पहुंच रहा है। इसे देखते हुए प्रदेश में कुछ शहरों में मेडिकल स्टोर पर इनकी बिक्री की रोक लगाई जा रही है तो फिर हमारे शहर में ऐसा क्यों नहीं हो रहा है।
एक और चुनौती...ग्वालियर में 10 दिन में एक हजार से अधिक बिकीं सेल्फ टेस्टिंग किट, ऑनलाइन बेहिसाब
एक और चुनौती...ग्वालियर में 10 दिन में एक हजार से अधिक बिकीं सेल्फ टेस्टिंग किट, ऑनलाइन बेहिसाब
ऐसे हो जाती है जांच
सेल्फ टेस्ट किट में जांच करने का तरीका काफी सरल है। इसमें 20 मिनट में कोरोना की जांच हो जाती है। दो रेड लाइन आने पर रिपोर्ट पॉजिटिव और एक रेड लाइन आने पर रिपोर्ट निगेटिव मानी जाती है। उसके बाद मरीज को लक्षणों के आधार पर अपने चिकित्सक से परामर्श लेकर इलाज कराना चाहिए। ये टेस्ट किट 200 से 300 रुपए में बेची जा रही हैं।
घर पर टेस्ट निगेटिव, तो भी आरटीपीसीआर टेस्ट जरूरी
सेल्फ टेस्ट किट के जरिए घर में कोरोना जांच करने के बाद लोगों को जानकारी नहीं छिपाना चाहिए। अगर एंटीजन टेस्ट में रिपोर्ट निगेटिव आती है तो इसके बाद पुष्टि के लिए एक बार आरटीपीसीआर टेस्ट भी करना चाहिए। आमतौर पर सेल्फ टेस्ट एंटीजन किट से निगेटिव होने पर आरटीपीसीआर टेस्ट पॉजिटिव भी आ सकती है। ऐसे में सेल्फ टेस्ट किट से रिपोर्ट निगेटिव आने पर अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर टेस्ट जरूरी हो जाता है। सेल्फ कोरोना टेस्टिंग किट को आइसीएमआर (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) ने 19 मई 2021 को अप्रूवल दिया था। आइसीएमआर ने दिशा-निर्देश जारी किए थे कि सैंपल लेने के बाद जो भी परिणाम आता है, उसे किट बनाने वाली कंपनी के एप पर अपलोड करना है। कंपनी यह जानकारी आइसीएमआर के पोर्टल पर अपलोड करेगी। लोग टेस्ट तो कर रहे हैं, लेकिन एप पर रिजल्ट नहीं बता रहे हैं।
दिशा-निर्देश के मुताबिक काम करेंगे
ये बात सही है कि लोग खुद ही सेल्फ टेस्टिंग किट खरीदकर अपनी जांच कर रहे हैं, इससे संक्रमण का खतरा बढऩे की पूरी संभावना रहती है। इसके लिए हमारी ओर से ऊपर लिखकर दिया जा चुका है, जैसे भी दिशा-निर्देश आएंगे हम उसके मुताबिक काम करेंगे। वैसे मेडिकल स्टोर को रिकॉर्ड मेंटेन करने के साथ-साथ उसे चेक भी करेंगे। सबसे बड़ी दिक्कत ऑनलाइन किट मंगाने वालों से है, उनके बारे में तो पता करना भी मुश्किल है।
- किरण मंगरे, ड्रग इन्सपेक्टर
अपनी रिपोर्ट स्वयं दें तो सबके लिए अच्छा
पर्सनल कोविड टेस्ट राष्ट्रीय स्तर पर मान्य है या नहीं इसका पता करते हैं। अगर राष्ट्रीय स्तर पर मान्य नहीं है तो हम इस पर कार्रवाई कराएंगे और अगर इसकी मान्यता है तो इसको टै्रस करने की प्रणाली बनाएंगे। इसके साथ फोन नंबर भी जारी कर सकते हैं, जिस पर पर्सनल टेस्ट से जांच के बाद लोग स्वयं ही अपनी जानकारी दे दें।
- कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेअब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !सूर्य ने किया मकर राशि में प्रवेश, संक्रांति का विशेष पुण्यकाल आजParliament Budget session: 31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाWeather Forecast News Today Live Updates: उत्तर भारत में जबरदस्त कोहरा और कड़ाके की ठंड, कई राज्यों में बर्फबारी और बारिश की चेतावनीArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यकोरोना से बचने एडवाइजरी जारी-फल और सब्जियों में बरतें ये सावधानियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.