जहरीली शराब से एक और मजदूर की मौत

दो मौतों की जांच में एक और हादसे का खुलासा
होली का जश्न मनाने के लिए आए थे शराब

By: Puneet Shriwastav

Updated: 03 Apr 2021, 03:16 AM IST

ग्वालियर . जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढक़र तीन हो गई है। उसने भी होली के अगले दिन दोस्तों के साथ शराब पी थी, इसके बाद तबीयत बिगडऩे से उसकी मौत हो गई। इसका खुलासा शुक्रवार को पुलिस जांच के दौरान हुआ।

बताया जा रहा है कि उसने मालनपुर के देसी ठेके से सात पाव शराब खरीदी थी। जहरीली शराब मामले की जांच के दौरान मालूम चला कि 31 मार्च को महाराजपुरा में फसल काटने से आया मजदूर भी शराब पीने के बाद मर गया था।

उसका पोस्टमार्टम कर शव परिजन को सौंप दिया गया था। परिजन ने अंतिम संस्कार कर दिया, लेकिन जब चंदूपुरा में शराब पीकर दो लोगों की मौत होने और चार की नजर कमजोर होने पर उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। इस मामले के बाद मजदूर की मौत की भी संदिग्ध मानकर जांच शुरू की गई।

पाव, पीने के बाद बिगड़ी तबीयत
शिवपुरी के भौंती से मजदूरों की टोली महाराजपुरा में फसल काटने आई थी। यहां लक्ष्मणगढ़ के पास सडक़ किनारे झोपड़े बनाए थे। होली की वजह से काम बंद था इसलिए साथी रवि 19 पुत्र रहीसा आदिवासी निवासी सलैया, भौंती के साथ शराब पार्टी के लिए मालनपुर में सब्जी मंडी के पास देसी शराब के ठेके पर गए। वहां से 90 रुपए में देसी शराब के 7 पाव खरीदे। वहां से रात को लौटकर शराब पी।

इसमें लगभग 5 पाव शराब अकेला रवि गटक गया। आधी रात के बाद उसकी हालत बिगड़ी तो अस्पताल ले गए। 31 मार्च की सुबह साढ़े 4 बजे उसने दम तोड़ दिया। सुबह उसके शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद रवि के शव को परिवार को गांव ले गया। वहां उसका अंतिम संस्कार कर दिया।
(जैसा शिवपुरी के भौंती निवासी देवा और शंभु आदिवासी ने बताया)

खुलासा, जांच को भेजी टीम
पुलिस ने बताया चंदूपुरा गांव में जहरीली शराब से प्रदीप परिहार और विजय परिहार की मौत सहित बंटी रजक, चंद्रपाल, राकेश माहौर और तेजसिंह की नजर कमजोर होना सामने आने पर बवाल मचा था। केस की पड़ताल करने में पता चला कि 31 मार्च को प्रदीप परिहार के अलावा रवि आदिवासी की भी मौत में भी शराब पीना वजह बताई गई। तब लक्ष्मणगढ़ में रवि के परिजन को तलाशा। उसका परिवार गांव वापस लौट चुका था तो शुक्रवार को पुलिस की टीम भौंती, शिवपुरी भेजी गई।
ज्वाइंट ऑपरेशन : वीडियो बनाकर ठेके की पहचान
मृतक रवि के साथ शराब पार्टी में शामिल देवा और शंभु आदिवासी ने खुलासा किया तीनों मालनपुर की कलारी से शराब लाए थे। दोनों ने जो जगह बताई पुलिस ने वहां जाकर कलारी का वीडियो बनाकर दोनों को दिखाया। जगह की तस्दीक होने पर दोनों को शिवपुरी से बुलाया। उन्हें साथ लेकर ग्वालियर और भिंड पुलिस और दोनों जिलों की आबकारी टीम ने कलारी पर रेड कर शराब का स्टॉक चैक किया और सैपलिंग की।
विसरा जांच रिपोर्ट से
होगा वजह का खुलासा
शिवपुरी से फसल काटने आए मजदूर की मौत भी होली के जश्न पर शराब पीने से हुई थी। उसकी मौत का खुलासा होने पर घटना की जांच की जा रही है। जिस कलारी से मजदूरों ने शराब खरीदी थी। उसका स्टॉक चेक किया, आबकारी विभाग ने कलारी पर मौजूद शराब के सैंपल लिए हैं। मजदूर का विसरा जांच के लिए भेजा गया है। उसकी रिपोर्ट से जाहिर होगा कि मौत का कारण क्या रहा है।
रवि भदौरिया सीएसपी

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned