scriptAs the effect of infection increased, the sale of medicines related to | संक्रमण का असर बढ़ते ही कोरोना से जुड़ी दवाओं की बिक्री 15 फीसदी बढ़ी | Patrika News

संक्रमण का असर बढ़ते ही कोरोना से जुड़ी दवाओं की बिक्री 15 फीसदी बढ़ी

- सतर्कता : लोगों ने एहतियातन बुखार व खांसी की दवाएं और विटामिन की खरीदारी की शुरू, दवा कारोबारियों के मुताबिक जिंक और विटामिन सी की भारी डिमांड

ग्वालियर

Published: January 10, 2022 10:17:04 am

ग्वालियर. एक ओर जहां शहर में कोरोना के संक्रमित तेजी से बढऩे लगे हैं वहीं दूसरी ओर नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के डर से एकदम से दवा बाजार में बिक्री में बढ़ोतरी हो गई है। तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों ने बुखार, खांसी, विटामिन जैसी दवाओं की खरीदारी शुरू कर दी है। हालांकि दवाओं को लेकर पहले जैसी मारामारी नहीं है और मेडिकल कारोबारियों का कहना है कि इनका स्टॉक भी भरपूर मात्रा में उपलब्ध है। पिछले सात दिनों के भीतर ही कोरोना की दवाओं की बिक्री में 15 फीसदी तक इजाफा हो चुका है।
संक्रमण का असर बढ़ते ही कोरोना से जुड़ी दवाओं की बिक्री 15 फीसदी बढ़ी
संक्रमण का असर बढ़ते ही कोरोना से जुड़ी दवाओं की बिक्री 15 फीसदी बढ़ी
स्टीमर और वेपोराइजर की निकलेगी मांग
थोक दवा कारोबारी श्याम करीरा के मुताबिक ठंड का मौसम होने के कारण आगे स्टीमर और वेपोराइजर की मांग बढ़ सकती है। इसके साथ ही दो-चार दिन बाद पेरासिटामोल की मांग में भी बढ़ोतरी हो सकती है। विटामिन सी, मल्टी विटामिन, जिंक आदि की मांग बनी हुई है। सर्जीकल सामान के विक्रेता मनोज भटीजा ने बताया कि आइआर थर्मामीटर और मास्क की डिमांड में बढ़ोतरी है। यदि केस बढ़ते हैं तो आगे भी मांग बढ़ेगी। वैसे माल भरपूर है, लोगों पर पहले का बचा हुआ है। मास्क की डिमांड में भी 30 फीसदी तक बढ़ोतरी हो चुकी है।
10 दिन में 30 फीसदी तक बढ़ गई काढ़े व च्यवनप्राश की मांग
कोविड के डर ने आयुर्वेदिक दवाओं की बिक्री भी बढ़ा दी है। लोग शरीर की प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने पर जोर दे रहे हैं। इसके लिए आयुर्वेदिक औषधि को लोग दैनिक दिनचर्या में तेजी से शामिल करने लगे हैं। इनमें सुदर्शन घनवटी, आयुष काढ़ा, गिलोय घनवटी, च्यवनप्राश, गिलोय रस, तुलसी घनवटी और सितोप्लादी चूर्ण आदि की मांग में पिछले 10 दिनों में 30 फीसदी का उछाल आया है। आयुर्वेद दवा कारोबारी रामजीदास खंडेलवाल ने बताया कि कोरोना में ये सभी कारगर हैं। इसके चलते लोग इनका स्टॉक भी करने लगे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.