Breaking : इतने करोड़ के मालिक निकले अटल जी,गरमाई राजनीति

Breaking : इतने करोड़ के मालिक निकले अटल जी,गरमाई राजनीति

monu sahu | Publish: Sep, 03 2018 04:42:18 PM (IST) | Updated: Sep, 03 2018 04:42:19 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

Breaking : इतने करोड़ के मालिक निकले अटल जी,गरमाई राजनीति

ग्वालियर। भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 16 अगस्त को दिल्ली के एम्स अस्पताल में शाम 5 बजकर 5 मिनट पर अंतिम सांस ली। 93 साल के वाजपेयी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उन्हें दो माह पहले ही एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह 2009 से व्हीलचेयर पर थे। अटल जी के पिता पंडित कृष्णबिहारी वाजपेयी टीचर थे और मां कृष्णा देवी घरेलू महिला थीं। उनका जन्म ग्वालियर में हुआ था। अटल जी के परिवार में उनके माता-पिता के अलावा तीन बड़े भाई अवधबिहारी,सदाबिहारी और प्रेमबिहारी वाजपेयी और तीन बहनें थीं. उनकी प्रारंभिक शिक्षा सरस्वती शिक्षा मंदिर बाड़ा ग्वालियर में हुई।

यह भी पढ़ें : Breaking: कांग्रेस के दिग्गज नेता का निधन, कांग्रेस में शोक की लहर, चुनाव में होगी मुश्किल

अटल जी के ग्वालियर में अभी भी कई रिश्तेदार रहते हैं। इनमें भतीजी कांति मिश्रा और भांजी करुणा शुक्ला,भांजे सांसद अनूप मिश्रा है। वहीं ग्वालियर में अटल जी के भतीजे दीपक वाजपेयी भी रहते है। हालांकि अटल बिहारी वाजपेयी आजीवन अविवाहित रहे. लेकिन, 1998 में जब वे 7, रेसकोर्स रोड में रहने पहुंचे तो उनकी दोस्त राजकुमारी कौल की बेटी और उनकी दत्तक पुत्री नमिता और उनके पति रंजन भट्टाचार्य का परिवार भी साथ रहने आया।

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : भोपाल से वर्दी खरीद कर बना फर्जी आईपीएस,टीआई को लगाई फटकार,देखें वीडियो

राजकुमारी कौल के बारे में बताया जाता है कि जब अटल प्रधानमंत्री थे तब कौल वाजपेयी के घर की सदस्य थीं। उनके निधन के बाद वाजपेयी के आवास से जो प्रेस रिलीज जारी की गई थी, उसमें उन्हें वाजपेयी के घर का सदस्य संबोधित किया गया था।

यह भी पढ़ें : BREAKING : ST/SC संशोधन बिल के विरोध में अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे लोग,मंत्री के बंगले का घेराव,जिले में हाईअलर्ट,See video

अटल जी की ओर से साल 2004 के लोकसभा चुनाव में दिए गए शपथ पत्र के अनुसार अटल के नाम कुल चल संपत्ति 30,99,232.41 रुपये थी। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री होने के नाते 20,000 रुपये की मासिक पेंशन और सचिवीय सहायता के साथ 6000 रुपये का कार्यालय खर्च भी मिलता था। यदि हम अटल जी की अचल संपत्ति की बात करें तो 2004 के शपथ पत्र के अनुसार उनके नाम पर दिल्ली के ईस्ट ऑफ कैलाश में फ्लैट नं0 509 है. जिसकी 2004 के समय कीमत 22 लाख रुपये थी।

यह भी पढ़ें : ग्वालियर चंबल संभाग में रिकॉर्ड तोड़ बारिश,मौसम वैज्ञानिक ने भी की भविष्यवाणी

वहीं अटल जी के पैतृक निवास शिंदे की छावनी कमल सिंह का बाग की 2004 के समय कीमत 6 लाख रुपये थी और वर्तमान में करीब 50 लाख रुपए है। इस तरह 2004 के शपथ पत्र के लिहाज से अटल जी की कुल अचल संपत्ति 28,00,000 रुपये थी।

यह भी पढ़ें : MP के इस मंदिर में करोड़ों के आभूषणों से होगा राधा-कृष्ण का शृंगार,यह है इनकी खासियत

atal bihari vajpayee

हालांकि,अभी अटल जी की वसीयत सामने नहीं आई है लेकिन साल 2005 में संशोधित हिन्दू उत्तराधिकार कानून के अनुसार यह संपत्ति उनकी दत्तक पुत्री नमिता और दामाद रंजन भट्टाचार्य को मिलने की बात कही जा रही है। लेकिन एक वेबसाइट के अनुसार ऐसा कहा जा रहा है कि आज के समय में अटल जी की कुल सम्पति करीब साढ़े चौदह करोड़ रुपए है।

 

atal bihari vajpayee

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned