बैंक में सेंध लगाई, स्ट््रांग रुम तोडने की कोशिश

नाकाम रहा चोर आग लगाकर भागा
बैंक के वाॅशरुम से सटी दीवार को खोदकर अंदर जाने का रास्ता बनाया

By: Puneet Shriwastav

Published: 18 Apr 2020, 02:24 AM IST

ग्वालियर। लाॅकडाउन की सख्ती में चोरों ने गुरुवार-शुक्रवार रात ज्येन्द्रगंज में सिंडीकेट बैंक में सेंध लगा दी। स्ट््र्रांग रुम का दरवाजा खोलने की कोशिश में उसका हैडिंल भी उखाड दिया।

इसमें नाकाम रहे तो उसकी दीवार को खोदकर अंदर घुसने की कोशिश की। तिजोरी की मजबूती से हार गए तो बैंक में आग लगाने की कोशिश कर भाग गए।

बैंक में अंधेरा और सीसीटीवी की क्वालिटी खराब होने की वजह से चोर का चेहरा साफ नहीं दिखा है। चोर का पता लगाने के लिए डाॅग स्कवाॅड और फिंगर प्रिंट टीम को भी बुलाया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।
सिंडीकेट बैंक की ज्येन्द्रगंज शाखा में गुरुवार शाम चार बजे तक काम हुआ था। उसके बाद स्टाफ बैंक बंद कर चला गया था। लाॅकडाउन की वजह से बाजार में सन्नाटा था।

चोरों ने इसका फायदा उठाया। जैन भवन के पिछले हिस्से में जाकर बैंक के वाॅशरुम से सटी दीवार को खोदकर अंदर जाने का रास्ता बनाया। चोरांे को उम्मीद थी कि बैंक में काफी रकम हाथ लगेगी।

अंदर घुसकर हर दराज को खोलकर खंगाला। उनमे सिर्फ कागज भरे थे तो चोर उस कमरे में घुस गए जहां तिजोरी है।
दरवाजा नहीं तोड पाए दीवार खोदी
पुलिस ने बताया कि चोरों ने बैंक की तिजोरी तक पहुंचने के लिए पूरी ताकत लगाई। जिस कमरे में तिजोरी है उसके दरवाजे का लाॅक तोडने की कोशिश की।

जददोजहद में दरवाजे के हैडिल का एक हिस्सा भी तोड दिया। दरवाजा नहीं खोल पाए तो उसकी दीवार खोदकर अंदर घुसने की कोशिश की। काफी देर तक यहां मशक्कत करने के बाद चोर नाकाम रहे।
सीसीटीवी तोडा, आग लगाई
चोरों को पता था कि बैंक में सीसीटीवी लगे हैं तो अंदर घुसने के बाद सामने लगा कैमरा तोड दिया। बैंक की तलाशी में कुछ हाथ नहीं लगा तो वाॅशरुम के पास जाकर स्टेशनरी में आग लगाई। फिर उसी रास्ते स े भाग गए जिससे अंदर घुसे थे।
छत के रास्ते आए, बैंक का जानकार चोर
बैंक मैनेजर भूपेन्द्र पाटीदार ने पुलिस को बताया बैंक मे ंकोई चोकीदार नहीं है, इसलिए चोर बेफ्रिक थे। गुरुवार रात को कलक्टर ने आदेश किया कि शुक्रवार सुबह बैंक 8 बजे खुलेगी तो दो कर्मचारियों की डयूटी सुबह जल्दी बैंक पहुंचने में लगाई थी।

दोनों सुबह करीब 7:50 बजे बैंक पहुंचे। शटर खोलकर अंदर आए तो बैंक में धुंआ भरा था। उन्होने समझा कि बैंक में आग लग गई है तो फायर बिग्रेड और पुलिस को फोन किया।

कुछ देर बाद जब वाॅशरुम के पास जाकर देखा तो दीवार में छेद दिखा तो चोरी की कोशिश का पता चला। बैंक जैन भवन में इसका उपरी हिस्सा लंबे अर्से से खाली पडा है।

आशंका है कि चोर छत के रास्ते आए हैं। जीने का शटर और एक खिडकी भी खुली मिली है। दोनों में ताले लगे थे वह खुले पडे मिले हैं। वारदात के तरीके से लगता है कि चोर बैंक के बारे में जानकार है। इसलिए उसने वह जगह घुसने के लिए चुनी जहां लोगों की आवाजाही कम रहती है।
पुलिस की थ्योरी भागने के लिए लगाई आग
उधर पुलिस की थ्योरी में चोर दीवार में छेद कर अंदर घुस तो आए लेकिन यहां निकलने में नाकाम रहे हैं इसलिए कागजों में आग लगाकर बैंक में धुंआ भरा है। जब स्टाफ ने गेट खोला तो धुंए में कुछ दिखाई नहीं दिया उसका फायदा उठाकर चोर बाहर निकले हैं।
सीसीटीवी से पहचान
इंदरगंज टीआई पंकज त्यागी का कहना है कि बैंक के सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं हालांकि उनमें चोर का चेहरा साफ नहीं दिखा है। लेकिन उसके हुलिए के आधार पर चोर की पहचान की कोशिश की जा रही है।

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned