निजीकरण के विरोध में बैंककर्मियों ने किया प्रदर्शन

- सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की

By: Narendra Kuiya

Published: 05 Feb 2021, 01:01 AM IST

ग्वालियर. भारत सरकार की ओर से केंद्रीय बजट में दो बैंकों के निजीकरण किए जाने की घोषणा के बाद बैंककर्मी उग्र हो गए हैं। गुरुवार को निजीकरण के विरोध में बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों ने सिटी सेंटर स्थित भारतीय स्टेट बैंक के जोनल कार्यालय के बाहर शाम के समय प्रदर्शन किया। बैंककर्मियों ने इस मौके पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन की ओर से किए गए प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे अवधेश अग्रवाल, हेमंत गोस्वामी, आरके शुक्ला ने कहा कि वित्त मंत्री ने एक फरवरी को आम बजट के दौरान घोषणा की थी कि दो सरकारी बैंकों का निजीकरण, बैंकों के एनपीए की वसूली के लिए निजी कंपनी को देने व भारतीय जीवन बीमा के हिस्सेदारी को बेचने को लेकर जो कदम उठाए जा रहे हैं, हम उनका पुरजोर विरोध करते हैं। आंदोलन का शंखनाद करते हुए सरकार को चेतावनी देते हैं वे देश विरोधी, जन विरोधी नीति से बाज आएं। यदि केन्द्र सरकार ने अपने इस निर्णय को वापिस नहीं लिया तो ये आन्दोलन राष्ट्रीय स्तर पर और उग्र रुप धारण कर लेगा। इस मौके पर आरसी धनगर, हिमान्शु सारस्वत, अशोक निगम, रहीम खान, हर्ष अरोरा, हेमंत सक्सेना आदि मौजूद रहे।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned