चौराहे पर ट्रैफिक चलाने लगाए बेरीकेडस्, फिर भी जाम

दोपहर में परेशान होते रहे लोग शाम को भी यही हालात

पुनीत श्रीवास्तव@ग्वालियर। सडक़ों पर ट्रैफिक को कायदे से चलाने के लिए तमाम जतन के बावजूद जाम का झंझट दूर नहीं हो रहा है। अब शिंदे की छावनी तिराहे पर वाहनों को फ्लो में चलाने के लिए बेरीकेडस रखे गए हैं। लेकिन फिर भी जाम से निजात नहीं मिली है।

बल्कि रास्ता कम मिलने की वजह से वाहन उलझ रहे हैं। इससे बिना वजह जाम की स्थिति हो रही है। दरअसल यातयात पुलिस ने रामदास घाटी से शिंदे की छावनी आकर फूलबाग जाने वाले यातयात को सुचारु चलाने के लिए शिंदे की छावनी तिराहे पर बेरीकेडस रखे हैं। पुलिस की थ्योरी है कि बीच सडक़ पर बेरीकेडस रखने से छप्परवाला पुल से आकर फूलबाग जाने वाले टेंपो अब बीच तिराहे पर सवारियों के लिए नहीं रुक सकेंगे तो जाम नहीं लगेगा। लेकिन प्रयोग पूरी तरह कारगर नहीं है। अब हो यह रहा है कि आधा रास्ता बेरीकेडस ने घेर लिया है।

टेंपो आकर इन बेरीकेडस के ठीक सामने रुककर सवारियां बैठाते हैं रामदास घाटी से आकर तिराहे से जाने वाले वाहनों का रास्ता बंद हो रहा है। इसी तरह सवारियों के लिए टेंपो की कतार लगने से छप्पर वाला पुल से आने वाले वाहनों को चलने लायक नहीं मिल रहा है। तो शिंदे की छावनी की रोड पर जाम की स्थिति हो रही है। बुधवार दोपहर को यातायात का दवाब कम होने के बावजूद बेरीकेडस की वजह से तिराहे पर वाहनों को बिना अटकना पड़ा। ट्रैफिक डीएसपी नरेशबाबू अन्नोटिया का कहना है जब तक यातयात पुलिस तैनात रहती है ट्रैफिक सुचारु चलता है। दोपहर को ट्रैफिक प्वाइंट पर लगाए गए पुलिसकर्मी दो घंटे लंच के लिए घर जाते हैं तो प्वाइंटस सूने रहते हैं। इस दौरान वाहन चालक मनमानी करते हैं। इसलिए ज्यादातर प्वाइंटस पर यही स्थिति होती है।

Puneet Shriwastav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned