एट्रोसिटी एक्ट का विरोध: ग्वालियर चंबल संभाग में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात,पेट्रोल पंप भी बंद

एट्रोसिटी एक्ट का विरोध: ग्वालियर चंबल संभाग में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात,पेट्रोल पंप भी बंद

monu sahu | Publish: Sep, 06 2018 11:30:17 AM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

एट्रोसिटी एक्ट का विरोध: ग्वालियर चंबल संभाग में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात,पेट्रोल पंप भी बंद

ग्वालियर। एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सवर्ण समाज,ओबीसी और सपाक्स के गुरुवार को भारत बंद को देखते हुए पूरे प्रदेश में धारा 144 लगा दी गई है। तीन दर्जन संगठनों के सोशल मीडिया पर चले अभियान और राजनेताओं के घेराव के बाद प्रभावित जिलों में सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। ग्वालियर, भिंड, मुरैना, दतिया, शिवपुरी में स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी गई।

बड़ी खबर : बड़ी खबर : देवकीनंदन महाराज ने सरकार को दी बड़ी चुनौती,मोदी सरकार में उथल-पुथल,See video

पेट्रोल पंप दोपहर 4 बजे तक बंद रहेंगे। चार जिलों में सपाक्स से जुड़े सरकारी कर्मचारियों ने भी गुरुवार को सामूहिक अवकाश लिया है।

बड़ी खबर : सगाई से 20 दिन पहले उठी अर्थी,हर आंख से निकल रहे थे आंसू

शुक्रवार सुबह से ही ग्वालियर चंबल संभाग में चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात रही। इस दौरान कही से भी कोई घटना की सूचना अभी तक सामने नहीं आई है।

बड़ी खबर : MP election 2018 : प्रदेश की यह है सबसे जोरदार सीट, टिकट के लिए भाजपा कांग्रेस में कशमकश

34 एसएएफ टुकड़ी व 6 हजार जवान तैनात
आइजी इंटेलिजेंस मकरंद देउस्कर ने मीडिया से कहा, भारत बंद के दौरान प्रदेश के सभी आइजी और एसपी को विशेष सतर्कता बरतने के लिए कहा है।

बड़ी खबर : मुश्किल में भाजपा,इस बार राज्य में शुरू हुआ एसी एसटी एक्ट का भारी विरोध,हार सकती है ये बड़ी सीट

धारा 144 लागू करने के साथ एसएएफ की 34 टुकडिय़ां और छह हजार नव आरक्षकों को मैदान में उतारा गया है। संवेदनशील जिलों में स्कूल बंद रहेंगे। प्रदेश के दो जिलों में हाईवे और रेलवे ट्रैक को बाधित करने की योजना का भी इनपुट मिला है।

बड़ी खबर : एससी-एसटी एक्ट का विरोध: स्वाभिमान सम्मेलन में कई संगठन एक मंच पर आए,भाजपा-कांग्रेस की बढ़ी चिंता

शहर में बाजार, स्कूल बंद रहेंगे
ग्वालियर में स्कूल-कॉलेज, बाजार, सवारी परिवहन बंद रहेगा। पुलिस ने हर हालात से निपटने के पुख्ता इंतजाम किए हैं। इंटरनेट ठप नहीं होगा।

Ad Block is Banned