कहीं BJP का आलीशान हाईटेक कार्यालय तो कहीं एक कमरा तक नहीं, इस जिले में नहीं है खुद का ठिकाना

कहीं BJP का आलीशान हाईटेक कार्यालय तो कहीं एक कमरा तक नहीं, इस जिले में नहीं है खुद का ठिकाना

Gaurav Sen | Publish: Oct, 13 2018 04:15:23 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 04:15:24 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

कहीं BJP का आलीशान हाईटेक कार्यालय तो कहीं एक कमरा तक नहीं, इस जिले में नहीं है खुद का ठिकाना

शिवपुरी। विधानसभा चुनाव नजदीक हैं और विभिन्न दलों ने अपने कार्यालयों को व्यवस्थित करना शुरू कर दिया, लेकिन 15 साल से सरकार होने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी शिवपुरी में अपना कोई कार्यालय नहीं बना पाई। अभी तक शिवपुरी में स्थित शासकीय कोठी नंबर-1 को भाजपा कार्यालय के रूप में उपयोग किया जा रहा था, जबकि यह कोठी शिवपुरी विधायक व कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के लिए आवंटित की गई थी।

चूंकि यशोधरा राजे तो यहां रहती नहीं हैं, इसलिए इस कोठी का उपयोग अभी तक भाजपा कार्यालय के रूप में किया जा रहा था। आचार संहिता लगने के बाद कांग्रेस हरकत में आई और शासकीय कोठी में भाजपा का कार्यालय संचालित किए जाने की शिकायत चुनाव आयोग सेे कर दी। जब यह जानकारी भाजपा के पदाधिकारियों को लगी तो उन्होंने आनन-फानन में कोठी नंबर एक से सामान समेट लिया और बायपास किनारे स्थित भाजपा के कोषाध्यक्ष का एक भवन दफ्तर के लिए ले लिया। महत्वपूर्ण बात यह है कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बने हुए 15 साल हो गए, लेकिन अभी तक पार्टी अपने लिए एक कार्यालय नहीं बना पाई, जबकि कार्यालय बनाने के नाम पर भारी-भरकम चंदा भी हो चुका है।

ज्ञात रहे कि लगभग 8 साल पूर्व तक भाजपा का कार्यालय हाइवे किनारे आदर्श नगर कॉलोनी में था, जिसे बेचकर दूसरा सुविधाजनक ऑफिस बनाए जाने के लिए सरकुलर रोड पर वरिष्ठ भाजपा नेताओं की मौजूदगी में भूमिपूजन किया गया था, जिसमें भाजपा के व्यापारी नेताओं ने हजारों-लाखों रुपए का चंदा देने की घोषणा भी की। लेकिन नेताओं के दावे धरातल पर नहीं उतर सके और सत्ताधारी भाजपा को कार्यालय नहीं मिल पाया।

फिजिकल स्थित कोठी नंबर-एक का आवंटन स्थानीय विधायक यशोधरा राजे सिंधिया के नाम से कागजों में किया गया, लेकिन कार्यालय के लिए भटक रही भाजपा ने उसे अपना कार्यालय बना लिया। अभी तक तो पार्टी की सभी गतिविधियां उस शासकीय कोठी में संचालित होती रहीं। सत्ताधारी दल ने यह सोचकर कि सरकार हमारी है तो प्रशासन भी कुछ नहीं कहेगा और आचार संहिता लगने के बाद भी हम इसी शासकीय कोठी से पार्टी के कार्यक्रम संचालित करते रहेंगे। हुआ भी कुछ ऐसा ही और प्रशासन ने इस शासकीय कोठी से अपनी नजर जान बूझकर हटा ली।

चूंकि आचार संहिता लग चुकी थी, इसलिए कांग्रेस ने बिना देर किए चुनाव आयोग से यह शिकायत कर दी कि भाजपा का कार्यालय व पार्टी की गतिविधियां अभी भी शासकीय कोठी नंबर-एक से संचालित हो रही हैं। यह शिकायत 9 अक्टूबर को की गई और जब शिकायत के संबंध में चुनाव आयोग ने पत्र भेजा तो प्रशासन ने बिना देर किए भाजपा पदाधिकारियों को सचेत किया। आनन-फानन में कोठी नंबर-एक से कार्यालय का सामान समेट लिया और उसे भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष दिलीप मुदगल द्वारा बायपास किनारे बनाए गए एक निजी भवन में रखवा दिया। चूंकि यह भवन निर्माणाधीन है, इसलिए एक तरफ जहां भवन का काम चल रहा है, वहीं दूसरी तरफ भाजपा कार्यालय का सामान इक_ा करके रखा हुआ है।

&आचार संहिता लगते ही हमने कोठी नंबर-एक में पार्टी कार्यालय की सभी गतिविधियां बंद कर दी थीं। अभी तो हमने मुदगल के भवन में दफ्तर शिफ्ट कर लिया है और अन्य कार्यक्रमों के लिए भाजपा उपाध्यक्ष तेजमल सांखला की परिणय वाटिका का उपयोग करेंगे। चुनाव आयोग में शिकायत के संबंध में हमें जानकारी नहीं है।
सुशील रघुवंशी, भाजपा जिलाध्यक्ष

हां, हमने चुनाव आयोग में शिकायत की है कि शासकीय कोठी नंबर-एक में भाजपा का कार्यालय संचालित हो रहा है। जबकि आचार संहिता में यह सब नहीं होना चाहिए। भाजपा तो खुलेआम आचार संहिता का उल्लंघन कर रही है और प्रशासन भी मूक दर्शक बनकर बैठा हुआ है।
बैजनाथ सिंह यादव, कांग्रेस जिलाध्यक्ष शिवपुरी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned