यंग एज में बढ़ रहा ब्लड प्रेशर, रखें सावधानी

हाई ब्ल्ड प्रेशर एक ऐसी बीमारी हो गई है कि जो कि अब यंग ऐज में लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। कई बार ऐसा होता है कि इस बीमारी का पता देर से चलता है जब तक शरीर के अन्य अंग भी प्रभावित होने लगे है।

By: Harish kushwah

Published: 03 Dec 2019, 12:42 AM IST

ग्वालियर. हाई ब्ल्ड प्रेशर एक ऐसी बीमारी हो गई है कि जो कि अब यंग ऐज में लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। कई बार ऐसा होता है कि इस बीमारी का पता देर से चलता है जब तक शरीर के अन्य अंग भी प्रभावित होने लगे है। डॉक्टर्स के अनुसार हाई ब्लड प्रेशर एक तरह से साइलेंट हमलावर है इसके खतरों से बचने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को 25 वर्ष की उम्र के बाद वर्ष में एक बार ब्लड प्रेशर की जांच कराना चाहिए। यदि ब्लड प्रेशर सामान्य है तो इसे मेंटेन रखें। वहीं ब्लड प्रेशर निर्धारित मात्रा से ज्यादा है तो उसे कंट्रोल रखकर स्वयं को फिट रख सकते हैं।

यह है कारण

अनियमित जीवन शैली, अत्याधिक तनाव लेना, शारीरिक श्रम की कमी, व्यायाम नहीं करना, तम्बाकू का सेवन, ज्यादा मात्रा में नमक का सेवन सहित अनुवांशिक व अन्य कारणों से भी हाई ब्लड प्रेशर का कारण हो सकता है। एक्सपर्ट के अनुसार उच्च रक्तचाप के कारण कई तरह की अन्य समस्या होती है। रक्तचाप बढ़ने के साथ ही चिड़चिड़ाहट बढ़ती है। व्यक्ति एग्रेसिव हो जाता है। इसके कारण हार्ट सम्बन्धी समस्या भी हो जाती है और इसका असर ब्रेन पर भी पड़ता है। कई बार ब्रेन स्ट्रोक होने पर पता चलता है कि मरीज को ब्लड प्रेशर है।

ये रखें सावधानी

अपनी हाईट के हिसाब से वजन बनाए रखें

शारीरिक श्रम, नियमित व्यायाम करते रहें

नमक का संतुलित मात्रा में सेवन करें

स्टे्रस फ्री रहने की कोशिश करें।

Harish kushwah
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned