script Budget 2024: 2 हजार करोड़ का बजट, सड़कों पर होगा फोकस, बदलेगी शहर की तस्वीर | Budget 2024: 2 thousand crore budget, focus will be on roads | Patrika News

Budget 2024: 2 हजार करोड़ का बजट, सड़कों पर होगा फोकस, बदलेगी शहर की तस्वीर

locationग्वालियरPublished: Feb 02, 2024 07:47:48 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi


नगर निगम ....महापौर, सभापति व पार्षदों की बढ़ाई मौलिक निधि

capture.png
Budget 2024

ग्वालियर। नगर निगम के वित्तीय वर्ष 2024-25 के बजट को लेकर गुरुवार को फाइनल बैठक महापौर डॉ शोभा सिकरवार, एमआईसी सदस्यों और सभी विभागों के अधिकारियों के साथ हुई। बैठक में आगामी वित्तीय वर्ष के बजट को लगभग 2170 करोड़ से अधिक रखा जाएगा। जबकि बीते वर्ष 2128 करोड़ रखा गया था। बाल भवन में महापौर डॉ शोभा सिकरवार की अध्यक्षता में हुई बजट बैठक में महापौर-सभापति की मौलिक निधि को 2.5-2.5 करोड़ और पार्षदों की निधि में 25-25 लाख की राशि बढ़ाए जाने को अनुमति दी गई।

वहीं निगम की आय बढ़ाने के लिए राजस्व विभाग के 40 लाख की राशि में बढोत्तरी करते हुए उसे 15 करोड़ किया गया। इससे निगम को लगभग 14.60 करोड़ की अतिरिक्त राशि मिलेगी। साथ ही बीते वित्तीय वर्ष में मौलिक निधि के कार्यों के होने वाले शेष भुगतानों के लिए छह करोड़ की राशि आरक्षित रखी गई है। इसमें मौलिक निधि के हेड में करीब 30 करोड़ की राशि की बढ़ोत्तरी को मंजूरी दी गई है।

इसके साथ ही जनकार्य में करीब 90 करोड़, विद्युत में 42 करोड़, कार्यशाला में 55 करोड़ का बजट रखा गया है। बजट में फाइनल चर्चा करने के बाद अब परिषद में भेजने के लिए निगम के लेखा शाखा में भेजा गया है। जहां इसकी एक बार जांच कर इसे तैयार किया जाएगा और परिषद सदस्यों के दावे-आपत्तियों के लिए भेजा जाएगा।

महापौर, सभापति व पार्षद की बढ़ाई मौलिक निधि

-महापौर डॉ शोभा सिकरवार की मौलिक निधि 6 करोड़ में 2.5 करोड़ को बढ़ाते हुए 8.5 करोड़ और सभापति की निधि 5 करोड़ में भी 2.5 करोड़ की राशि को बढ़ाकर 7.5 करोड़ किया गया।
-निगम के सभी 66 पार्षदों की वर्तमान निधि 65 लाख थी, जिसमें 25-25 लाख बढ़ाकर 90-90 लाख रुपए करने के प्रस्ताव को फाइनल सहमति दी गई है।

40 लाख से बढ़ाकर 15 करोड़ की आय

बजट बैठक में निगम का राजस्व बढ़ाने पर विशेष जोर देते हुए निगम के लीज रेंट सहित अन्य वसूली से मिलने वाली 40 लाख की आय में कई गुना वृद्धि 15 करोड़ रुपए रखा गया है। इससे निगम को 14.60 करोड़ की अतिरिक्त आय मिलेगी। जबकि एक करोड़ विनियमन राशि के रूप में गणना की गई है।

जनकार्य में 10 करोड़ की कटौती कर 90 करोड़ की

बजट में जनकार्य विभाग द्वारा बेहतर सडक़ें देने के लिए पूर्व में करीब 100 करोड़ रुपए का बजट बनाया गया था। इसमें केंद्र सरकार व राज्य से मिलने वाली करीब 70 करोड़ की राशि भी शामिल है। हालांकि इस बार जनकार्य के बजट में 10 करोड़ की कटौती करते हुए करीब 90 करोड़ रखे जाने की बात कही जा रही है।

कार्यशाला में 55 तो विद्युत में 30 लाख की कटौती

निगम की कार्यशाला का बजट 55 करोड़ रखा गया है। इसमें वाहन खरीदने पर 8 करोड़, हाथठेला पर 2.5 करोड़,जीपीएस पर 15 लाख, डीजल-पेट्रोल पर 30 करोड़, मरम्मत पर 5 करोड़, वाहन किराय पर 8 करोड़ और वाहन बीमा पर 1 करोड़ खर्च होंगे। इसी तरह विद्युत में करीब 42 करोड़ रखा है। इसमें बिजली बिल पर 18 करोड़, एसी खरीदने पर 30 लाख की कटौती करते हुए 50 लाख, 7 करोड़ में नए पोल लगाए जाने, 2 करोड़ में सोडियम के लिए रखा गया है।

ट्रेंडिंग वीडियो