सीएम, गृहमंत्री के नाम सुसाइड नोट लिखकर कारोबारी 4 मंजिल मकान से कूदा

सुसाइड से पहले बुजुर्ग ने सीएम शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय नरेंद्र सिंह तोमर और राज्यसभा सदस्य जयोतिरादित्य सिंधिया के नाम सुसाइड नोट लिखा उसमें बताया कि बेटे के कारोबार के लिए 13 लोगों से मोटे ब्याज पर कर्जा लिया था।

By: Puneet Shriwastav

Updated: 24 Feb 2021, 01:58 AM IST

ग्वालियर। सूदखोरों की धमकी से तंग बुजुर्ग कारोबारी ने चार मंजिल से छलांग लगा दी सुसाइड से पहले बुजुर्ग ने सीएम शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय नरेंद्र सिंह तोमर और राज्यसभा सदस्य जयोतिरादित्य सिंधिया के नाम सुसाइड नोट लिखा उसमें बताया कि बेटे के कारोबार के लिए १३ लोगों से मोटे ब्याज पर कर्जा लिया था। उसमें काफी रकम चुकाई भी। लॉकडाउन मेे धंधा ठप हो गया फिर भी ब्याज चुकाया उसके बावजूद सूदखोरों ने उधारी की रकम वही के वही रखी। सूदखोर जीना ***** कर चुके हैं।

निम्बालकर की गोठ में रहने वाले कैन्हलाल राठौर ५९ ने मंगलवार को चार मंजिला मकान की छत से कूद कर सुसाइड कर लिया। कन्हैयालाल पान कारोबारी थे। बाडे और अचलेश्वर के पास उनकी पान की दुकाने हैं। बेटे दीपक, हिमांशु और अभिषेक के साथ मिलकर कारोबार करते थे। पान कारोबार में ज्यादा मुनाफा नहीं होने की वजह से बेटे हिमांशु को पिछले साल पानी कारोबार शुरू करवाया था।
परिजन ने पुलिस को बताया हिमांशु को कर्जा कन्हैयालाल ने अपनी गारंटी पर दिलवाया था। उधारी करीब 20 लाख की थी। कोरोना और लॉकडाउन की वजह से धंधा ठप हो गया। अब रकम करीब 28 लाख के करीब पहुंच गई। सूदखोर लगातार रकम वसूली के लिए धमकी दे रहे थे। सोमावर रात को भी इसी मसले को लेकर घर में कलह हुई थी। सुबह किसी से घर में बात नहीं की। दीपक , अभिषेक और हिमांशु दुकान चले गए। घर में सिर्फ बहुएं थीं। दोपहर करीब 12:30 कन्हैयालाल परिजन की नजर बचाकर छत पर गए ओर वहां से छलां्रग लगा दी।
फोन पर आ रही धमकी, पुलिस को भी बताया
उधारी वसूली के लिए सूदखोर कन्हैयालाल को पिछले चार पांच दिन से फोन पर धमका रहे थे। सोमवार को उन्होंने कोतवाली थाने में आवेदन देकर सूदखोरों की शिकायत भी की थी। लेकिन पुलिस ने उनकी परेशानी को गंभीरता से नहीं लिया।

पुलिस को थमाया ब्यौरा
तपन पवार , प्रसन्न अग्रवाल , रतनेश गुप्ता, राहुल शर्मा बंटी राणा, भूपेन्द्र श्रीवास्तव ,सनी गुप्ता , यशपाल राणा , गिर्राज अग्रवाल , शिवम लारिया , मयंक , राजेश सिंधी और बेटू भदौरिया से ब्याज पर उधार लिया था।

सुसाइड नोट में लिखा गोकुल हो अंतिम संस्कार
सीएम शिवराजसिंह, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र तोमर, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा सहित राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम सुसाइड में कन्हैंयालाल ने लिखा मैं मध्यम परिवार से हूं । आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। अब सूदखोर और ब्याजखोरों से घिर गया हॅू लॉकडाउन में चार महीने धंधा बंद रहा है उसने और बर्वाद कर दिया है। सूदखोरों ने ३० से ४० प्रतिशत तक का ब्याज लगाया है। इससे मानसिक रूप से परेशान हूं सूदखोर बेटे हिमांशु को भी धमकिया दे रहे हैं। कर्जा चुकाने के लिए जेवर भी बेच दिए हैं। मेरे परिवार को भी खतरा है। खत की आखिरी लाइन में कन्हैयालाल ने सीएम, गृहमंत्री से परिवार की सुरक्षा करने के लिए कहा है और इच्छा जाहिर की है सुसाइड के बाद शव का संस्कार गोकुल मे ंगोपाल घाट पर किया जाए।

इनका कहना है
कारोबारी ने सुसाइड किया परिजन ने कुछ लोगों पर प्रताडित करने का आरोप लगाया है। हादसे के पीछे कर्जा वजह सामने आया है। परिजनों ने कुछ दस्तावेज भी पेश किए हैं। उनके आधार पर जांच की जाएगी। जिन लेागों के नाम परिवार ने बताए हैं उनसे भी पूछताछ होगी। इसके अलावा मृतक कारोबारी के बेटे ने कोतवाली में भी आवेदन देना बताया है उसकी भी जांच की जाएगी।
नागेन्द्र सिंह

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned