टैक्सी ऑपरेटर की हत्या करने वाले बदमाश बस स्टैंड पर सीसीटीवी में कैद, कई और टैक्सी वालों को फंसाने की कोशिश की थी

टैक्सी ऑपरेटर की हत्या करने वाले बदमाश बस स्टैंड पर सीसीटीवी में कैद, कई और टैक्सी वालों को फंसाने की कोशिश की थी

Rahul Aditya Rai | Updated: 27 May 2019, 08:40:27 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

बदमाशों की पहचान के लिए पुलिस ने बस स्टैंड पर लगे सीसीटीवी से फुटेज भी निकाल लिए हैं, उनमें बदमाश गौरव से बात करते दिखे हैं। इसमें दो बदमाश छरहरे बदन के और एक तगड़ा है। साथ ही करैरा के रूट के कैमरों में भी गौरव की कार जाती हुई दिखी है।

ग्वालियर। टैक्सी ऑपरेटर हवलदार के दामाद गौरव तोमर की हत्या करने वाले बदमाशों ने उसकी कार बुक करने से पहले बस स्टैंड पर खड़ीं दूसरी टैक्सी के चालकों को फांसने की कोशिश की थी, लेकिन उनकी गाडिय़ों की हालत ठीक नहीं होने से बुक नहीं किया। अब स्टैंड से टैक्सी चलाने वाले ऑपरेटर बता रहे हैं कि हत्यारे करैरा शिवपुरी जाने के बहाने टैक्सी बुक करने आए थे। उन्हें गौरव ने 300 रुपए किराया भी कम बताया था।

 

बदमाशों की पहचान के लिए पुलिस ने बस स्टैंड पर लगे सीसीटीवी से फुटेज भी निकाल लिए हैं, उनमें बदमाश गौरव से बात करते दिखे हैं। इसमें दो बदमाश छरहरे बदन के और एक तगड़ा है। साथ ही करैरा के रूट के कैमरों में भी गौरव की कार जाती हुई दिखी है। हत्यारों ने कार लूटने के लिए गला घोंटकर गौरव की जान ली थी। आशंका है कि हत्यारों ने उसे करैरा पहुंचकर मार डाला था, उसके शव को कार से तालाब तक ले गए।

 

पुलिस के मुताबिक हत्यारों में एक बदमाश करैरा के आसपास का रहने वाला है, क्योंकि जिस तालाब में गौरव के शव को फेंका गया, वह मेनरोड से करीब 15 किलोमीटर अंदर जंगल में है। वहां तक पहुंचने का रास्ता बहुत कम लोगों को पता है। अब फुटेज के आधार पर पुलिस बदमाशों को तलाश रही है। हत्यारों ने गौरव की कार 23 मई को बुक की थी, फिर उसकी हत्या कर शव को करैरा में तालाब में फेंककर कार लूट कर ले गए थे।

 

तेरी कार तो डिब्बा है
बस स्टैंड से टैक्सी चलाने वालों ने पुलिस को बताया कि बदमाश काफी देर तक स्टैंड पर मौजूद रहे थे। इस दौरान कई टैक्सी चालकों से बात की। लगभग सभी टैक्सी चालकों ने उनसे 2500 रुपए किराया मांगा था। एक टैक्सी चालक से किराए की रकम को लेकर उनकी कहासुनी भी हुई थी, क्योंकि उसकी कार को उन्होंने डिब्बा बता दिया, इससे कार ड्राइवर तैश में आ गया था, उसने बदमाशों से कहा कि अब पूरा किराया भी दोगे तो उन्हें नहीं ले जाएगा, तब गौरव किराए में तीन 300 रुपए कम बताकर बदमाशों को करैरा ले जाने के लिए राजी हो गया था।

 

आखिरी बार पत्नी से की बात, कहा-रात तक वापस आऊंगा
बदमाशों ने 23 मई को गौरव की कार करैरा जाने के लिए 2200 रुपए में बुक की थी। हत्यारों का टारगेट होने से पहले उसने आखिरी बार दतिया पहुंचकर मोबाइल पर पत्नी से बात की थी, कहा था कि रात करीब 12 बजे घर लौट आएगा, लेकिन सुबह तक नहीं लौटा। उसका मोबाइल फोन लगातार स्विच ऑफ रहा, तो परिजन को शंका हुई, उन्होंने पुलिस को बताया कि गौरव कभी मोबाइल बंद नहीं करता था। सवारी लेकर जाने के बाद हमेशा पत्नी को बताता था कि कब तक वापसी होगी, उस वक्त तक घर लौटता था।

 

तेज स्पीड में जाती दिखी कार
हत्यारों का रूट ट्रेस करने के लिए पुलिस ने करैरा तक टोल टैक्स और रास्तों पर लगे कैमरों के फुटेज खंगाले हैं, इनमें डबरा, दतिया, गोराघाट सहित सीतापुर तक गौरव की कार एमपी 07 सीसी 8712 तेज स्पीड में जाती दिखी है, लेकिन कार में बैठे लोगों के चेहरे साफ नहीं दिखाई दिए हैं।

 

शव देखकर चुप्पी साध गए गांव वाले
गौरव का शव करैरा में जिस तालाब में मिला है वहां आसपास के गांव के कई लोग मछलियां पकडऩे आते हैं। गांव वालों को शव घटना के कुछ घंटे बाद ही मिल गया था, लेकिन लोग चुप्पी साधे रहे। दूसरे दिन सरपंच को सूचना मिली तो उन्होंने पुलिस को बताया था। 24 घंटे तक पानी में पड़े रहने की वजह से शव फूल गया था। उसे बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने दफन कराया था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned