अफसरों के फरमान को चुनौती, ठेले हटे न नो पार्किंग थमी

4 दिन पहले कमिश्नर, आइजी अमले के साथ बस निकले थे
े सडकों पर बेजा रूकावट रोकने की दी थी हिदायत

By: Puneet Shriwastav

Updated: 29 Dec 2020, 03:29 AM IST

गवालियर। सडकों पर जाम नहीं लगें ४ दिन पहले पहली बार कमिश्नर और आईजी ने अमले के साथ घूमकर साफ हिदायतें दी थीं। लेकिन अफसरों की हिदायत के बाद हालात नहीं बदले हैं।

सडकों पर वाहनों की पार्किंग और हाथ ठेलों का मजमा रोज लग रहा है। सोमवार को पत्रिका ने उन रास्तों का जायजा लिया जहां अफसरों ने रास्ता साफ रखने का फरमान दिया था।

वहां सडक किनारे गाडियों की पार्किंग और हाथ ठेलों की कतार थीं। जाहिर था कि लोगों की मनमानी के सामने प्रशासन और पुलिस का अमला कमजोर साबित हो रहा है।

ज्येन्द्रगंज में सोमवार को सडक के दोनों तरफ सडकों पर ही गाडियों की पार्किंग थी। यहां ज्यादातर दुकानदार तो सडकों से अपने वाहन हटाकर मल्टी लेवल पार्किंग या दूसरी जगहों पर खडा कर रहे हैं।

लेकिन खरीदारी के लिए आने वाले ग्राहक पार्किंग में वाहन खडा करने से कतरा रहे हैं। दुकानदार मान रहे थे कि सडक पर ज्यादा गाडियां ग्राहकों की खडी हो रही हैं। उन्हें ज्यादा टोक नहीं सकते।

क्योंकि इससे ग्राहकी खराब होने का खुटका रहता है। अफसरों ने इस बाजार में राउंड लिया था उसके बाद से यातायात पुलिस का ट््रक जरूर सडक किनारे खडी गाडियों को समेट कर ले जाता है।

लेकिन उसे एक राउंड लगाने में काफी वक्त लगता है। उतनी देर में तमाम गाडियां नो पाकिँग में खडी होती और जाती हैं।
बैंक के सामने गाडियों की कतार
ज्येन्द्रगंज के कारोबारियों का कहना था कि बाजार में तीन बैंक हैं, उनमें सुबह से शाम तक लोगों की आवाजाही रहती है। सबसे ज्यादा वाहन इन बैंक के सामने और आसपास पार्क होते हैं।

इसके अलावा राजीव प्लाजा के इर्द गिर्द सडक पर मार्किंग लाइन के अंदर बाहर वाहनों की कतारें रहती हैं। अब तीन चार दिन से यातायात पुलिस ने कसावट दिखाई है तो लोग इधर उधर वाहन घुसा कर पार्क कर रहे हैं, लेकिन मल्टी लेबल पार्किंग में नहीं जा रहे हैं।
हाथ ठेले वहीं, पता नहीं कब हटेंगे
शिंदे की छावनी पर हाथ ठेलों को हटाने के लिए भी अफसरों ने नगरनिगम के अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव से कहा था। निरीक्षण के दौरान तय हुआ था कि दूसरे दिन से कार्रवाई होगी।

अगर ठेलेवाले नहीं जाएं तो उन पर चालान किए जाएंगे। शिंदे की छावनी निवासी अनिल सिंह नरवरिया ने बताया अफसरों के आदेश के बाद ठेले हट जाएंगे यह मान रहे थे।

इससे रास्ता साफ होने की उम्मीद थी। लेकिन ठेले वहीं पर टिके हैं। पता नहीं ठेले वालों पर किसी का आदेश क्यों नहीं लागू होता। इससे पहले भी इन ठेलों को हटाने के लिए कई बार फरमान मिल चुके हैं। लेकिन ठेले नहीं सरकते।
इनका कहना है
पहले फेज में हजीरा और मुरार के हाथ ठेलों को हॉकर जोन में पहुंचाना तय हुआ है। उसके लिए तैयारी भी पूरी है। जल्द ही ठेले वहां पहुंचेगे। इसके बाद शिंदे की छावनी के ठेलों को हॉकर जोन में पहुंचाया जाएगा।

ज्येन्द्रगंज में सडक किनारे पार्किंग नहीं हो इसलिए नो पार्किंग में खडे वाहनों पर कार्रवाई तेज की गई है। कारोबारी मल्टी लेवल पार्किंग में वाहन खडा कर भी रहे हैं। इसमें और कसावट की जाएगी।
पकंज पांडेय एएसपी यातायात

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned