हाथों से जूम करके डिजीटली रूप में देखी शहर की विरासत

- मंगलवार से खुल गया स्मार्ट सिटी का बहुप्रतीक्षित डिजिटल म्यूजियम, पहले दिन 29 विजिटर्स देखने पहुंचे
- 3500 वर्गफीट क्षेत्र में 6.72 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुआ है डिजिटल म्यूजियम
- ग्वालियर के इतिहास से जुड़े यंत्र, आभूषण, हस्तशिल्प आदि की जानकारियों को किया गया है संग्रहित

By: Narendra Kuiya

Published: 17 Nov 2020, 11:51 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड की ओर से बनाए गए डिजिटल म्यूजियम को मंगलवार से विजिटर्स के लिए खोल दिया गया है। गोरखी स्थित स्काउट गाइड महाराज बाड़ा पर बनाए गए इस म्यूजियम में रखी ऐतिहासिक चीजों को देखने के लिए पहले दिन 29 विजिटर्स यहां पहुंचे। फिलहाल इसे कुछ दिनों तक नि:शुल्क रखा गया है। म्यूजियम को देखने का समय सुबह 11 से शाम 4 बजे तक रखा गया है। डिजीटल म्यूजियम पहुंचने वाले सैलानी ग्वालियर व आसपास की धरोहर व कलाओं का दीदार डिजिटल मोड पर कर सकेंगे। संग्रहालय में ग्वालियर की स्थापत्य शैली, वस्तु, परिधान, जीवनशैली, वाद्य यंत्र, आभूषण, हस्तशिल्प, सांस्कृतिक परंपरा, चित्रकारी सहित कई सुविधाओं को डिजिटल फार्म में प्रदर्शित किया गया है।

ये है खासियत
- यहां दो वीआरएस एलइडी लगाए हैं। इनमें ग्वालियर की हिस्टोरिकल बिल्डिंग का डेटा फीड किया गया है। इन बिल्डिंग को हाथों से व्यू करके 360 डिग्री रोट्रेट और जूम करके देखा जा सकता है।
- 10 कियोस्क लगाए गए हैं, इन्हें टच करके अंचल की धरोहर की जानकारी मिलेगी। संगीत की जानकारी वाले कियोस्क में जिस संगीत की जानकारी लेंगे उसका म्यूजिक भी बजेगा। यहां दो मिनी कियोस्क भी लगाए हैं।
- बच्चोंं के लिए इसमें गेम जोन भी रखा गया है। इसमें डूडल पर बच्चे पेंटिंग कर सकेंगे।
- 16 गैलरियों में सजे ग्वालियर के इतिहास, यंत्र, आभूषण, हस्तशिल्प और अन्य बातों को अत्याधुनिक आइटी उपकरणों का प्रयोग करके देख सकेंगे। इस संग्रहालय में वर्चुअल रियलटी का समावेश भी किया गया है, जिसके द्वारा इतिहास के किसी स्थल की वास्तविकता को महसूस किया जा सकेगा।
- 3500 वर्गफीट एरिया में तैयार किए गए इस डिजिटल म्यूजियम एंड प्लेनेटोरियम को स्मार्ट सिटी कॉर्पोरेशन ने 6.72 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया है।

दो माह पूर्व सीएम ने किया था लोकार्पण
डिजिटल म्यूजियम का लोकार्पण 12 सितंबर को प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया था। तब से यह शहरवासियों के साथ-साथ पर्यटक इसके खोले जाने की राह ताक रहे थे। मंगलवार को इसे खोले जाने के बाद भी अभी प्लेनेटोरियम का काम जारी है।

विजिटर्स के लिए खोल दिया है
डिजिटल म्यूजियम को मंगलवार से विजिटर्स के लिए खोल दिया गया है। म्यूजियम में ग्वालियर की स्थापत्य शैली, वस्तु, परिधान, जीवनशैली, वाद्य यंत्र, आभूषण, हस्तशिल्प, सांस्कृतिक परंपरा, चित्रकारी सहित कई विधाओं को आधुनिक तरीके से डिजिटली प्रदर्शित किया गया है। अभी इसे नि:शुल्क रखा गया है, शुल्क बोर्ड में तय किया जाएगा। कोविड-19 के बाद यहां रेगुलर एक्टिविटी भी करेंगे। इसके पीछे प्लेनेटोरियम भी बनाया जा रहा है, ये साल के अंत तक बनकर तैयार हो जाएगा।
- जयति सिंह, सीइओ, स्मार्ट सिटी

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned