CM शिवराज बोले, सहरिया परिवारों को सब्जी के लिए मिलेंगे पैसे तो पुलिस भर्ती के लिए सहरियाओं को देगा होगा बस फिजीकल

अब सहरिया परिवारों को हर महीने सब्जी के लिए 1 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। यह राशि उस परिवार की महिला के खाते में सरकार भेजेगी।

By: shyamendra parihar

Updated: 09 Dec 2017, 07:31 PM IST

ग्वालियर/शिवपुरी। अब सहरिया परिवारों को हर महीने सब्जी के लिए 1 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। यह राशि उस परिवार की महिला के खाते में सरकार भेजेगी। यह घोषणा शनिवार को कोलारस विधानसभा क्षेत्र के सेसई में आयोजित सहरिया सम्मेलन में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की।

 

CM का भाषण सुनने गए किसान के साथ हुआ कुछ ऐसा कि वो बोला जब तक जिंदा हूं भाषण सुनने नहीं जाउंगा

 

सीएम ने कहा कि सहरिया युवक अब बिना लिखित परीक्षा दिए केवल फिजीकल के आधार पर पुलिस में भर्ती होंगे। इससे पूर्व सीएम ने कोलारस की दलित बस्ती में आयोजित कार्यक्रम में 18 करोड़ की पेयजल योजना एवं विकास कार्यों के लिए 3 करोड़ रुपए की राशि की सौगात दी। कोलारस उपचुनाव के दृष्टिगत सीएम ने आदिवासी व दलितों पर अपना फोकस रखा, क्योंकि सबसे अधिक यहां आदिवासी वोटर है और दूसरे नंबर पर दलित हैं। सीएम के दो कार्यक्रम होने से उपचुनाव में वर्तमान माहौल भाजपा के पक्ष में नजर आ रहा है। सीएम ने हाथ जोड़कर सहरिया आदिवासियों से आग्रह किया कि शराब व नशे से दूर रहें।

 

पूर्व पीएम वाजपेई की यादों से रूबरू होने पीएम मोदी जाएंगे अटल जी की नगरी

 

यह दी सहरिया परिवारों को सौगातें
- 7.50 करोड़ रुपए की लागत से सबरी माता का मंदिर व सहरिया संस्कृति को संरक्षित करने के लिए एक बड़ा भवन बनाया जाएगा। इसके लिए जगह तय करने की जिम्मेदारी सीएम ने सहरिया समाज को ही सौंप दी।
- पुलिस भर्ती में केवल फिजीकल के आधार पर सहरिया युवक-युवतियों को नौकरी मिलेगी। जबकि अन्य भर्तियों में भी जगह निश्चित कर उन्हें मौका दिया जाएगा।
- 10 हजार सहरिया परिवारों को आवासीय पट्टे दिए गए। यानि जहां उनकी झोपड़ी है, उस जमीन का मालिकाना हक दिया। सहरिया आदिवासियों के 22 हजार पक्के मकान मार्च 2018 तक बनाए जाएंगे।
- ग्वालियर व इंदौर में 17.20 करोड़ की लागत से विशेष छात्रावास सहरिया बनेंगे।

- शिवपुरी व श्योपुर के कराहल में कंप्यूटर केंद्र खोले जाएंगे, जिसमें सहरिया युवक-युवती कंप्यूटर ट्रेनिंग लेंगे।
- अब उन सहरिया परिवारों को भी राशन कंट्रोल की दुकान से मिलेगा, जिनके आधार लिंक नहीं हैं। सीएम ने यह वर्ग मेहनती होता है और कईबार उनके अंगूठे के फिंगर प्रिंट काम करते हुए बिगड़ जाते हैं, इसलिए अंगूठा जरूरी नहीं होगा।
- 2018 तक सभी आदिवासी मजरे-टोलों में नि:शुल्क बिजली कनेक्शन होंगे। साथ ही सभी सहराना में हैंडपंप लगाए जाएंगे।
- 12वीं तक शिक्षित सहरिया आदिवासी बेटियों को एएनएम ट्रेनिंग दी जाएगी, ताकि वो भी स्वास्थ्य सेवा में आ सकें।
- टीबी व कुपोषण सहित अन्य बीमारियों की पहचान कर उसका इलाज करने के लिए चलित अस्पताल संचालित किए जाएंगे, जिसमें डॉक्टर सहित अन्य सभी सुविधाएं होंगी।

यह दिए अधिकारियों को निर्देश
- एसपी व आईजी इस बात का ध्यान रखें कि सहरिया-आदिवासी बस्तियों के अलावा जिले में कहीं भी अवैध शराब की बिक्री न हो।
- कलेक्टर व कमिश्रर यह देखें कि वन अधिकार अधिनियम के तहत जो पट्टे दिए जा रहे हैं, वो जमीन यदि ऊबड़-खाबड़ है तो उसे समतल करवाएं। साथ ही कोई आदिवासी अपनी जमीन दूसरे वर्गके व्यक्ति को न बेच सके।
- कलेक्टर से कहा कि यदि प्रधानमंत्री आवास के तहत कोई ठेकेदार सहरिया आदिवासी का घर बनाने के नाम पर पैसा लेकर रफूचक्कर हो जाए तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराईजाए।
- शासन की योजनाओं का लाभ सहरिया परिवारों तक पहुंच सके, कोई भी बिचौलिया यदि इसमें आता है तो उसके खिलाफ सख्ती से कार्रवाईकी जाए।

मुर्दाबाद के नारे लगाने वाले को उठा ले गई पुलिस
सीएम की सभा के दौरान भीड़ में शामिल एक युवक ने काले झंडे दिखाते हुए शिवराज मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस युवक को तैनात पुलिस ने वहीं दबोच लिया। मुर्दाबाद के नारे सुनकर सीएम ने कहा कि चिंता न करो, यह तो कांग्रेसी है। फिर सीएम ने कांग्रेस को कोसते हुए कहा कि हम गरीब परिवारों के लिए कुछ करना चाहते हैं, लेकिन कांगे्रसियों के पेट में मरोड़ उठ रही है। पकड़ा गया युवक झांसी की समाजवादी पार्टी का बताया गया।

shyamendra parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned