इंदौर इंटरसिटी के एसी कोच में कॉकरोच, रात में नहीं सो पा रहे यात्री

इंदौर इंटरसिटी के एसी कोच में कॉकरोच, रात में नहीं सो पा रहे यात्री
इंदौर इंटरसिटी के एसी कोच में कॉकरोच, रात में नहीं सो पा रहे यात्री

Rizwan Khan | Updated: 22 Sep 2019, 12:30:00 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

रेलवे यात्रियों से अच्छी सुविधाओं के नाम पर अधिक पैसे तो वसूल रहा है, लेकिन यात्रियों की परेशानी को नहीं समझ पा रहा है। पिछले कई दिनों से इंदौर से आने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस के एसी कोच में कॉकरोच की भरमार है। इंदौर से शनिवार को सुबह ग्वालियर आई इंटरसिटी से उतरे यात्रियों का गुस्सा देखने लायक था।

ग्वालियर. रेलवे यात्रियों से अच्छी सुविधाओं के नाम पर अधिक पैसे तो वसूल रहा है, लेकिन यात्रियों की परेशानी को नहीं समझ पा रहा है। पिछले कई दिनों से इंदौर से आने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस के एसी कोच में कॉकरोच की भरमार है। इंदौर से शनिवार को सुबह ग्वालियर आई इंटरसिटी से उतरे यात्रियों का गुस्सा देखने लायक था। ए-वन कोच में सीट 18 पर मनोज नामक यात्री ने ट्रेन से उतरकर डिप्टी एसएस की शिकायत पुस्तिका पर अपनी शिकायत दर्ज कराई। यात्री ने बताया कि इतना पैसा खर्च करने के बाद भी हमको रातभर परेशानी आई है। उन्होंने बताया कि कॉकरोच के कारण न तो ट्रेन में खाना खा पाए और न ही रात में सो सके। ट्रेन में रेलवे के सफाई कर्मचारियों से रात भर सफाई के बारे में कहने के बाद भी कोच में कॉकरोच कम नहीं हुए। इसके अलावा तीन चार अन्य यात्रियों ने ट्रेन में चल रहे कोच अटेंडर की शिकायत पुस्तिका में भी अपनी शिकायत दर्ज की है। ऐसे में हम कैसे यात्रा कर सकते हंै।

बरौैनी में भी कई बार हो चुकी है शिकायत
इससे पहले भी ग्वालियर से चलने वाली बरौनी एक्सप्रेस में भी यात्रियों ने कॉकरोच की शिकायत की है। इसमें सबसे बड़ी बात तो यह है कि एसी कोच भी में यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी ट्रेन में छोटे बच्चों को आ रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned