रसूखदार रिहायशी इलाके में करा रहे तलघर का निर्माण

रसूखदार रिहायशी इलाके में करा रहे तलघर का निर्माण

Rajesh Shrivastava | Updated: 22 Jul 2019, 01:45:34 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

रिहायशी इलाके में तलघर के निर्माण का स्थानीय लोगों द्वारा विरोध किया जा चुका है, साथ ही नगर निगम के अधिकारियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों को भी अवगत कराया गया है, लेकिन न तो नगर निगम के अधिकारियों द्वारा कोई ध्यान दिया जा रहा है

ग्वालियर. वार्ड क्रमांक-53 स्थित इमली की गोठ में रिहायशी इलाके में रसूखदारों द्वारा तलघर का निर्माण कराया जा रहा है। जबकि तलघरों के व्यावसायिक उपयोग पर रोक लगी हुई है। रिहायशी इलाके में तलघर के निर्माण का स्थानीय लोगों द्वारा विरोध किया जा चुका है, साथ ही नगर निगम के अधिकारियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों को भी अवगत कराया गया है, लेकिन न तो नगर निगम के अधिकारियों द्वारा कोई ध्यान दिया जा रहा है, न ही प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अभी तक तलघर के निर्माण कार्य पर रोक लगाई गई है। जिसका फायदा रसूखदारों द्वारा उठाया जा रहा है।
इमली की गोठ में मंदिर के समीप शासकीय जमीन है जो एक समाज की धर्मशाला के लिए चिह्नित की गई थी। लेकिन धर्मशाला का निर्माण नहीं होने के कारण उक्त जमीन पर रसूखदारों की नजर बनी हुई है। क्षेत्र के ही कुछ रसूखदारों द्वारा उक्त जमीन को चारों ओर से घेर लिया गया है और धीरे-धीरे तलघर का निर्माण कार्य शुरू करा दिया गया है। खास बात यह है कि शहर के बीचों-बीच तलघर का निर्माण कराने के बाद भी निगम और स्थानीय प्रशासन उदासीन है। इधर, रिहायशी इलाके में तलघर का निर्माण कराने को लेकर स्थानीय लोगों द्वारा विरोध किया जा रहा है। लोगों का कहना है कि बारिश के दिनों में तलघर के लिए खुदाई कराए जाने से आसपास के घरों में नुकसान हो सकता है। विरोध करने पर तलघर का निर्माण कराने वाले रसूखदार विवाद पर उतारू हो जाते हैं। स्थानीय लोगों द्वारा नगर निगम के क्षेत्राधिकारी सतेन्द्र सौलंकी को भी अवगत कराया गया, लेकिन उनके द्वारा मौके पर औपचाकिरता निभाते हुए केवल आश्वासन दिया गया और मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। वहीं प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत करने के बाद कुछ अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल कर निकल गए, लेकिन उनके द्वारा तलघर का निर्माण नहीं रुकवाया गया। ऐसे में आसपास रहने वाले लोग उनके घरों को नुकसान होने की आशंका से परेशान हैं।

यह मामला संज्ञान में है, इस मामले में दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं, जिसकी शिकायत मिलने पर मौके पर पहुंचे थे। यहां पर सडक़ से केवल तीन फीट नीचे ही मकान का निर्माण चल रहा था, लेकिन वहां तलघर नहीं बन रहा है। ऐसे में सडक़ से नीचे खुदाई कराकर कराए जा रहे निर्माण कार्य पर मिट्टी डलवाकर रोक लगाई गई थी। मकान का निर्माण कराने वालों ने मंजूरी ले रखी है और नियमानुसार ही मकान का निर्माण चल रहा है।
सतेन्द्रसिंह सौलंकी, क्षेत्राधिकारी, वार्ड क्रं 53, नगर निगम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned