स्टेशन पर मिला कोरोना, महाराष्ट्र से आए 74 में सात पॉजिटिव, 120 संक्रमित निकले

- लापरवाही से फैल रहा संक्रमण

- मेडिकल हॉस्टल में कोरोना

- कैदी, वकील संक्रमित

By: Hitendra Sharma

Published: 03 Apr 2021, 10:19 AM IST

ग्वालियर. कोरोना दूसरे फेज में जिस तेजी से फैल रहा है, उसने चिताएं भी बढ़ाई हैं। संक्रमण के फैलने के पीछे से कोरोना हॉट स्पॉट शहरों से आने वाले भी बड़ी वजह है। शुक्रवार को आशंका गहरी हो गई जब रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र से आए ७४ यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। इनमें सात कोरोना संक्रमित निकले। जांच टीम ने झेलम और पंजाब मेल से उतरे यात्रियों के महाराष्ट्र के टिकट देखकर रैपिड एंटीजन जांच कराई थी।

संक्रमितों में 5 ग्वालियर और दो भिंड जिले के हैं। सभी संक्रमित ए-सिम्टोमैटिक थे। कोई लक्षण नहीं होने पर इनको होम आइसोलेट कराया गया है। उनके घरों पर कोरोना संक्रमित होने के पर्चे भी चस्पा कराए गए हैं। उधर शुक्रवार को जिले में 120 कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। इनमें युवाओं की गिनती ज्यादा है।

संपर्क से फैल रहा कोरोना
चिकित्सकों का कहना है कि कोरोना का संक्रमण संपर्क के जरिए फैल रहा है। लोग तमाम हिदायत के बाद भी कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। यही वजह है कि संक्रमित के संपर्क में आने वाले भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। शुक्रवार को नए 120 संक्रमितों में युवा और महिलाएं ज्यादा हैं।

सिर्फ मास्क तक सीमित सुरक्षा
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना के दूसरे दौर में उससे बचाव के लिए लोग सिर्फ मास्क तक सीमित दिख रहे हैं। पिछले साल कोरोना की शुरुआत में बाहर से आने वाले सामान, यहां तक की सब्जियों को भी सैनेटाइज किया जा रहा था। लोग घर में होने के बावजूद सुरक्षा के लिए हाथ धोने की आदत डाल चुके थे, लेकिन संक्रमण के दूसरे दौर सुरक्षा के नियमों का पालन नहीं हो रहा है।

मेडिकल हॉस्टल में कोरोना
जीआर मेडिकल कॉलेज के रविशंकर हॉस्टल में तीन मेडिकल छात्र संक्रमित निकले हैं। उनका कहना है कि हॉस्टल में कुछ दिन पहले कई छात्र संक्रमित हुए थे। आशंका है कि उनके संपर्क में आने से वह भी कोरोना की चपेट में आए हैं

corona

इंदौर से त्योहार पर आईं पॉजिटिव
परिवार के साथ होली मनाने के लिए इंदौर से आईं 31 साल की महिला भी संक्रमित पाई गई हैं। नया बाजार निवासी महिला ने बताया कि वह पिछले कुछ दिनों से इंदौर में थी। होली से एक दिन पहले ही घर लौटीं थी। वापसी के बाद तबियत गड़बड़ लगी तो कोरोना टेस्ट कराया था। उसमें पॉजिटिव आईं।

बैंक शाखा प्रमुख पॉजिटिव
गार्डन प्लेस में रहने वाले कॉर्पोरेशन बैंक के शाखा प्रमुख भी कोरोना संक्रमित निकले हैं। उनके मुताबिक कुछ दिन से खांसी, जुकाम था। दवाएं लेने पर भी ठीक नहीं हुए तो जांच कराई। उसमें संक्रमित आए हैं।

नौकरी ज्वॉइन से पहले कोरोना ने घेरा
किलागेट निवासी 23 वर्षीय युवक ने बताया कि हाल में मुंबई में उनकी नौकरी लगी है। वहां ज्वाइंनिग देना है। मुंबई रवाना होने से पहले जांच कराई थी। शुक्रवार को रिपोर्ट में पॉजिटिव आए हैं। पीडि़त का कहना है कि उनमें कोरोना के कोई लक्षण भी नहीं है। पता नहीं कैसे संक्रमण की चपेट में आ गए।

gwalior_corona_update

कैदी, वकील संक्रमित
जेल से रिहा होने से पहले बंदी कोरोना जांच में पॉजिटिव आया है। सलाखों के अंदर बंदी के संक्रमित होने से खलबली मच गई है। क्योंकि सजायाफ्ता बंदी जिस बैरक में है। उसमें कई और बंदी भी हैं। वह सब भी जांच के दायरे में आ गए हैं। रिहा होने वाला बंदी डबरा का रहने वाला है। हजीरा निवासी अभिभाषक भी संक्रमित आए हैं। उनका कहना है कि कोर्ट में तमाम लोगों से संपर्क होता है। पता नहीं कौन संक्रमित संपर्क में आ गया।

नादान भी संक्रमित
टेकनपुर में रहने वाले 12 और 8 साल के दो बच्चों सहित विनय नगर में १७ साल और मुरार में १५ साल का लड़का भी कोरोना संक्रमित आए हैं। उनके परिजन का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर तेजी पकडऩे के बाद से बच्चों का घर से बाहर निकलना बंद कर दिया था। बस आसपास के बच्चों के साथ खेलते थे। फिर कैसे संक्रमित हो गए समझ नहीं पा रहे हैं।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned