scriptCorona infection intensified, black marketing of medicine defeated | कोरोना संक्रमण तेज, मात खाई दवा की कालाबाजारी | Patrika News

कोरोना संक्रमण तेज, मात खाई दवा की कालाबाजारी

ब्लैक में बिके रेमेडेसिवर सहित दूसरी दवाएं डंप
एंटीबॉडी दवाओं का कारोबार ठप

ग्वालियर

Published: January 28, 2022 01:24:47 am

ग्वालियर। कोरोना की तीसरी लहर में दवा की कालाबाजारी करने वाले मात खा गए हैं। पिछली बार संक्रमण पर काबू करने जिन दवाओं और इंजेक्शन की ब्लैक मार्केटिंग हुई थी। बड़े दवा कारोबारियों ने इस बार भी उन पर दांव खेला था।
mask business increased, the sanitizer business was beaten
कोरोना संक्रमण तेज, मात खाई दवा की कालाबाजारी
लेकिन पासा उल्ट पड़ गया। संक्रमण तो तेजी से बढ़ा, लेकिन उन दवाओं की जरूरत नहीं पड़ी। दवा कारोबार से जुडे लोगों का कहना है कोरोना की तीसरी लहर के आते ही कई कारोबारियों ने रेमेडेसिवर सहित जिंक दवाओं के बड़े आर्डर बुक किए थे। उनका स्टॉक कर लिया। लेकिन संक्रमण के इलाज में उनकी जरूरत नहीं पड़ी तो अब दवाओं को डंप करना पड़ा है।
घर पर ठीक हुए मरीज
तीसरी लहर में संक्रमण तेज तो है, लेकिन अभी तक संक्रमित घर पर सामान्य दवाओं से ही ठीक हो रहे हैं। इसलिए न तो इंजेक्शन की जरूरत पडी है और न दवाओं की।
सिर्फ मास्क कारोबार बढ़ा, सेनेटाइजर का धंधा पिटा
इस बार कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों ने मास्क तो खरीदे हैं ,लेकिन सेनेटाइजर की खपत नहंी बढ़ी है। हालांकि कोविड गाइडलाइन के मुताबिक संक्रमण से बचाव के लिए सेनेटाइजेशन भी जरूरी है। लेकिन तीसरी लहर में लोग सेनेटाइजर का इस्तेमाल कम कर रहे हैं।
जबकि इस मेडिकल कारोबार से जुडे लोगोंं को अनुमान था तीसरी लहर में सेनेटाइजर की खपत भी पिछली दो लहरों की तरह तेज होगी। इसलिए भारी तादात में उसका भी स्टॉक किया। लेकिन अनुमान गलत साबित रहा।
इसलिए मात खाए
कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा डिमांड रेमडेसिवर इंजेक्शन की थी। ३ हजार कीमत का इंजेक्शन ५० हजार तक बिका था। डिमांड देखते हुए नकली इंजेक्शन तक बाजार में आए थे। तीसरी लहर में इस इंजेक्शन की मांग होगी। अनुमान पर १.५ करोड से ज्यादा इंजेक्शन स्टॉक किए गए।
इंजेक्शन की जरूरत नहीं
कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमण तेजी से फैलने वाला तो है, लेकिन घातक साबित नहीं हुआ है। क्योंकि ज्यादातर लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। इसलिए रेमेडेसिवर और एंटी बॉडी बनाने वाली दवाओं की जरूरत नहीं है।
डा. संजय धवले चिकित्सक जेएएच ग्वालियर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.