कोविड वैक्सीनेशन के लिए आए लिंक तो गलती से भी यह न करें

वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन के आ रहे फर्जी मैसेज और मेल

ग्वालियर. अब वैक्सीनेशन के पंजीयन के नाम पर मोबाइल पर फर्जी मैसेज और मेल आ रहे हैं। आशंका है कि लोगों की कांटेक्ट लिस्ट चोरी करके फर्जीवाड़े के मैसेज भेजे जा रहे हैं। सरकारी की साइबर सिक्योरिटी एजेंसी ने इस मैसेज को लेकर लोगों को सावधान किया है। मैसेज और मेल के जरिए झांसा देकर लोगों को वैक्सीन के लिए इस पर रजिस्टर करने के लिए कह रहे है। पंजीयन में फर्जी लिंक पर ये गिरोह पर आपकी संवेदनशील जानकारी, आधार आदि लेकर गलत इस्तेमाल कर सकता है। ग्वालियर में भी कई लोगों के पास इस तरह के मैसेज और मेल आ रहे हैं। इन फर्जी वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन वाले मैसेजों से सतर्क रहने की जरूरत है।


केस-1

रेलवे कॉलोनी में रहने वाले उत्कर्ष शर्मा के मेल पर वैक्सीनेशन पंजीयन के लिए लिंक आया। लिंक में कहा गया था कि आप अपने आस के सेंटर के लिए स्लॉट बुक करें। जब उस लिंक को खोला तो एक और लिंक तक पहुंचा दिया और वहां जानकारी भरने के लिए कहा गया। हालांकि उत्कर्ष ने बिना जानकारी भरे ही इस लिंक को डिलीट कर दिया।


केस-2
महलगांव में रहने वाले राजेन्द्र सूर्यवंशी के फोन पर वैक्सीनेशन कराने के लिए लिंक आया था। जब उस लिंक को खोला तो वैक्सीनेशन कराने के लिए डिटेल भरने के लिए कहा गया और और वैरीफिकेशन मैसेज व्हाटसऐप पर भेजने कहा गया। राजेन्द्र पहले ही वैक्सीनेशन के लिए पंजीयन करा चुके थे, इसलिए उन्होंने मैसेज में कोई जानकारी नहीं भरी।


सरकारी ऐप कोविन पर ही करें रजिस्ट्रेशन
सरकार की ओर से आधिकारिक साइट कोविन ऐप या आरोग्य सेतु ऐप पर ही कोविड वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन हो रहा है. इसके अलावा कोई ऐप जारी नहीं किया गया है। कोविन का पोर्टल एड्रेस दिया है जहां आप वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। मोबाइल या इंटरनेट पर दिख रहे फर्जी डोमेन, ईमेल सहित अन्य मैसेज से सावधान रहने की आवश्यकता है जिसमें कोविड वैक्सीन के रजिट्रेशन की बात कही जा रही हो।


कई वारदातें आई है सामने
ऑनलाइन लोगों को ठगने वाले नए तरीके अपनाते हैं, इन दिनों साइबर ठग वैक्सीनेशन के ऑनलाइन स्लॉट की फर्जी लिंक बनाकर लोगों को जाल में फंसा रहे हैं। फर्जी लिंक में फंसने वालों के खाते से ठग पैसे चोरी कर रहे हैं। ऐसी कई वारदातें सामने आई है। लोगों को ऐसी लिंक से बचना चाहिए। इस तरह ठगी करने वालों पर शिकंजा कसने का लगातार प्रयास किया जा रहा है।
सुधीर अग्रवाल एसपी साइबर सेल

Patrika
राहुल गंगवार Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned