अल्लाह,ईश्वर,जीजस और वाहेगुरू के द्वार हुए बंद, घर से करें याद, कोरोना से बचें और बचाएं

corona virus affect in gwalior : कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण से आम जन को बचाने के लिए प्रशासन ने सभी मंदिर-मस्जिद एवं अन्य धर्मस्थलों में सार्वजनिक पूजा अर्चना और नमाज आदि को बंद करने के लिए धर्म प्रमुखों को निर्देश दिए हैं।

By: Gaurav Sen

Updated: 19 Mar 2020, 01:52 PM IST

ग्वालियर. कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण से आम जन को बचाने के लिए प्रशासन ने सभी मंदिर-मस्जिद एवं अन्य धर्मस्थलों में सार्वजनिक पूजा अर्चना और नमाज आदि को बंद करने के लिए धर्म प्रमुखों को निर्देश दिए हैं। सभी धर्मप्रमुखों से कहा गया है कि वे स्वेच्छा से अपने धर्मावलंबियोंं को आने से मना कर दें ताकि सभी को संभावित खतरे से सुरक्षित रखा जा सके। इस निर्देश के बाद अब किसी भी मंदिर में आम जन पूजा के लिए नहीं जा सकेंगे और न ही किसी मस्जिद में इक_ा होकर नमाज पढ़ी जा सकेगी। वहीं सभी शिक्षा संस्थाओं को अगले दस दिन तक परीक्षा न कराने के निर्देश दिए गए हैं।

कंट्रोल रूम नंबर... यहां से लें जानकारी और सलाह
0751-2646605, 2646606, 2646607, 2646608

"धर्म प्रमुख लें निर्णय"

मंदिरों में सिर्फ होगी नियमित पूजा
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट के छतरी बाजार स्थित हनुमान मंदिर रोकडिय़ा सरकार, नाग देवता मन्दिर, कोटेश्वर महादेव और भूतेश्वर महादेव मंदिर अनिश्चित काल के लिए बंद रहेंगे। सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट के सचिव राणा करण सिंह ने बताया सभी मंदिरों में सिर्फ नियमित पूजा होगी, आमजन के लिए मंदिर बंद रहेंगे। वहीं अचलेश्वर न्यास ट्रस्ट के अध्यक्ष हरिदास अग्रवाल ने बताया कल पदाधिकारियों की बैठक कर श्रद्धालुओं को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया जाएगा कि एक-एक श्रद्धालुओं को दर्शन कराया जाए। साथ ही उन्हें सेनेटाइजर और मास्क भी दिया जाएगा। उसके बाद भी यदि परेशानी आती है तो फिर मंदिर बंद भी करेंगे। वहीं विकास नगर स्थित साईं बाबा मंदिर के अध्यक्ष योगेश शुक्ला ने बताया हमने सभी भंडारे, भजन संध्या पर रोक लगा दी है। मंदिर बंद करने को लेकर अभी हम बैठक कर रहे हैं।


जयंती और त्योहारों पर न हो भीड़

  • सदस्यों के सुझाव पर शहीद भगत सिंह जयंती, अंबेडकर जयंती सहित अन्य महापुरुषों की जयंती, भीड़ की संभावना वाले सभी दिवसों पर अब घर में ही आयोजन करें। प्रतिमाओं पर भीड़ नहीं लग सकेगी।
  • डॉक्टरों को भी निर्देश दिए जाएंगे कि बंगलों में मरीजों की लंबी लाइनों को न लगाएं।

जरूरी हो तभी शहर जाएं
जिले के प्रत्येक गांव में यह संदेश भेजा जाए कि बहुत जरूरी काम हो तो ही ग्रामीण बस या ट्रेन से शहर जाएं। शहर में जो भी ट्रक चालक आ रहे हैं, इन पर नजर रखी जाए, अफवाहों पर लगाम लगाने प्रशासन प्रयास करे। यह सुझाव शांति समिति की बैठक में सदस्यों ने कोरोना वायरस से बचाव और सावधानियों को लेकर हुई बैठक में दिए हैं। कलेक्टर ने कहा लोगों को संक्रमण से बचाने अभी जनसुनवाई स्थगित रहेगी। जरूरी हो तो अकेले आकर आवेदन दे सकते हैं।

ब्रीथिंग एक्सरसाइज जरूरी
रैडक्रॉस सचिव डॉ आरसी शर्मा ने कहा अस्थमा से प्रभावित लोगों इस कोरोना वायरस का प्रभाव जल्दी होता है। अगर किसी को सामान्य बीमारी है तो घबराएं नहीं, डॉक्टर से दवा लें। ब्रीथिंग एक्सरसाइज जरूरी है क्योंकि वायरस पहले फेफड़ों पर ही पड़ता है। 10 सेकंड सांस भरें अगर आप यह कर पा रहे हैं तो आपके फेफ ड़े सही हैं। गुनगुना पानी पीते रहें तो भी सुरक्षा बनी रहेगी। ठंडा के बजाय सामान्य पानी पिया जाए तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सभी धर्म प्रमुखों से कहा गया है कि स्वेच्छा से आम जन को धर्म स्थलों पर इक_ा होने से रोकें। मास गैदरिंग से संक्रमण का खतरा बढ़ेगा, इसलिए सभी धर्म प्रमुखों से अनुरोध किया गया है।
कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned