लोकनृत्य में दिखी देश की संस्कृति

लोकनृत्य में दिखी देश की संस्कृति

Avdhesh Shrivastava | Updated: 08 Aug 2019, 07:50:10 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

आइवरी कोस्ट देश के 59वें स्वतंत्रता दिवस उत्सव आईटीएम यूनिवर्सिटी में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच उत्साह से मनाया गया।

ग्वालियर. झंडावंदन के दौरान पूरे जज्बे के साथ ऊंची आवाज में जहां राष्ट्रगान गूंज रहा था, वहीं अपने देश के लोकनृत्य व गीत का प्रदर्शन भी स्टूडेंट्स अपनी प्रस्तुतियों से कर रहे थे। यह नजारा था आइवरी कोस्ट देश के 59वें स्वतंत्रता दिवस उत्सव का, जिसे आईटीएम यूनिवर्सिटी में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच उत्साह से मनाया गया। यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. कमलकांत द्विवेदी ने आइवरी कोस्ट के रिप्रजेंटेटिव स्टूडेंट्स के साथ ध्वज फ हराया। इस मौके पर आइवरी कोस्ट का राष्ट्रगान भी स्टूडेंट्स ने एक सुर में गाया। स्टूडेंट्स ने अपने देश के लोकनृत्य और लोकगीत का प्रदर्शन अपनी प्रस्तुतियों में किया। इस उपलक्ष्य में वहां के इतिहास, सभ्यता, पारंपरिक तौर-तरीके, विशेषताएं, वर्तमान स्थिति आदि के बारे में प्रजेंटेशन के माध्यम से बताया।
पुस्तक का विमोचन कल
जनवादी लेखक संघ ग्वालियर की ओर से डॉ. गोपाल किशोर सक्सेना की पुस्तक ‘वक्त के सामने: गिरजा कुमार माथुर’ का विमोचन कार्यक्रम १० अगस्त को शाम ६ बजे राज्य स्वास्थ्य प्रबंधन एवं संचार संगठन में किया जाएगा।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में आईटीएम यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति रमाशंकर सिंह एवं विशिष्ट अतिथि लेखक वकार सिद्दीकी व कवि राजहंस सेठ उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ रचनाकार प्रो. प्रकाश दीक्षित करेंगे। संचालन वरिष्ठ कवित डॉ. पवन करण का रहेगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned