एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन, केन्द्रीय मंत्री तोमर से मांगा इस्तीफा

एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन, केन्द्रीय मंत्री तोमर से मांगा इस्तीफा

Avdhesh Shrivastava | Publish: Sep, 02 2018 10:37:32 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

आरक्षण, एससी-एसटी एक्ट में संशोधन अध्यादेश के विरोध में सवर्ण-ओबीसी युवाओं और संगठन ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान पहले यूनिवर्सिटी के सभागार में प्रदेश की केबिनेट मंत्री मायासिंह को काले झंडे दिखाने का प्रयास किया गया। इसके बाद रेसकोर्स रोड स्थित केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के बंगले पर नारेबाजी करते हुए इस्तीफा मांगा।

ग्वालियर. आरक्षण, एससी-एसटी एक्ट में संशोधन अध्यादेश के विरोध में सवर्ण-ओबीसी युवाओं और संगठन ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान पहले यूनिवर्सिटी के सभागार में प्रदेश की केबिनेट मंत्री मायासिंह को काले झंडे दिखाने का प्रयास किया गया। इसके बाद रेसकोर्स रोड स्थित केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के बंगले पर नारेबाजी करते हुए इस्तीफा मांगा। प्रदर्शन के दौरान यूनिवर्सिटी से पुलिस ने पांच युवाओं को गिरफ्तार किया था, जिनको लेकर संगठन और एसपी की खासी बहस के बाद छोड़ दिया गया।

एक्ट और आरक्षण से नाराज सवर्ण संगठनों ने शनिवार सुबह लगभग 11.30 बजे से ही प्रदर्शन की तैयारी शुरू कर दी थी। आक्रोश को देखते हुए कलेक्टर के निर्देश पर एसपी ने केन्द्रीय मंत्री तोमर, प्रदेश के केबिनेट मंत्री जयभान सिंह पवैया और मायासिंह के आवास पर पुलिस तैनात कर दी थी। इसके बाद भी युवाओं ने नगर प्रशासन मंत्री के कार्यक्रम में पहुंचकर काले झंडे दिखाने का प्रयास किया। दोपहर बाद भीड़ रेसकोर्स रोड पहुंच गई और सडक़ पर धरना देकर जमकर नारेबाजी की और मंत्री के स्थानीय पीए गौरव श्रीवास्तव को ज्ञापन सौंपा है। सामान्य-पिछड़ा वर्ग के युवाओं का कहना है कि केन्द्र और राज्य सरकार ने तुष्टिकरण की राजनीति खत्म नहीं की तो प्रदर्शन जारी रहेगा। डबरा में भी एससी-एसटी एक्ट बिल के विरोध में युवाओं ने अर्धनग्न प्रदर्शन किया। इसके साथ ही रैली भी निकाली।

एससीएसटी एक्ट के विरोध में किया प्रदर्शन
डबरा. केंद्र सरकार द्वारा एससीएसटी एक्ट में संशोधन बिल लाने के बाद सवर्ण एवं पिछड़ा वर्ग का विरोध प्रदर्शन जारी है और जगह-जगह नेताओं का विरोध किया जा रहा है। रविवार को नगर के सवर्ण और पिछड़ा वर्ग के युवाओं ने अर्धनग्न होकर जुलूस निकाला और नए अंदाज से विरोध प्रदर्शन किया। शहर के मुख्य मार्ग से होते हुए जुलूस के रूप में युवा निकले और नगर के मुख्य चौराहे पर पहुंंचे। वहां पर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया साथ ही जुलूस के दौरान यह नारा लगाते हुए चल रहे थे कि यह संशोधन बिल समाज को बंटने का काम कर रहा है जिसका हम सभी सवर्ण वर्ग विरोध करते है साथ ही संवर्ण वर्ग जिन्दाबाद के नारे लगाए। इस संबंध में सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया तो व्यापक स्तर पर अंदोलन किए जाएंगे और शहर मे कोई भी नेता या जनप्रतिनिधि आएगा उसे काले झंडे, चूडिय़ां दिखाकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। विरोध प्रदर्शन करने वाले युवाओं ने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने एससीएसटी एक्ट में संशोधन बिल करके गलत काम किया है।

Ad Block is Banned