सेलीब्रिटीज में फैशन स्टायलिश की डिमांड अब ज्यादा

आइटीएम यूनिवर्सिटी में फैशन कम्युनिकेशन पर वर्कशॉप

By: Mahesh Gupta

Updated: 28 Nov 2019, 11:06 AM IST

आजकल फैशन डिजाइनर से ज्यादा फैशन स्टायलिश को सेलीब्रिटी ज्यादा अप्वॉइंट कर रहे हैं। स्टायलिंग बहुत महत्वपूर्ण है, ये चैलेंजिंग वर्क है। इसमें प्रमुखत: वार्डरोब में जो ड्रेसेस मौजूद हैं, उनसे न्यू स्टायल क्रिएट करना होता है। ये मिक्स एंड मैच, क्रिएशन और इनोवेशन पर आधारित प्रोफ ाइल है। इसमें सब कुछ थीम पर होता है, एलीमेंट्स भी खुद के होते हैं। इंडियन-वेस्टर्न का फ्यूजन इसमें सबसे ज्यादा डिमांडेड है। स्टायल से संबंधित सारी शॉपिंग जैसे एसेसरीज, फुटवियर सभी फैशन स्टायलिश को ही करना पड़ती है। यह कहना था था दिल्ली से आईं फैशन एक्सपर्ट अनन्या वंदनानंद का, वे आइटीएम यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ आट्र्स एंड डिजाइन की ओर से आयोजित तीन दिवसीय वर्कशॉप में मौजूद थीं।

टीम वर्क प्रमोट करना जरूरी
फैशन कम्युनिकेशन पर आधारित ये वर्कशॉप फ स्र्ट ईयर के स्टूडेंट्स के लिए रखी गई। इसमें प्रमुख रूप से एरिया ऑफ फैशन, फैशन स्टायलिश, मेकअप, फैशन डिजाइन, इंडस्ट्री वर्क, फैशन डायनामिक्स, पेज-3 फैशन, फैशन फ ॉर कास्टिंग के बारे में समझाया गया। फैशन इंडस्ट्री की वर्क प्रोसेस के बारे में खासतौर से उन्होंने कहा कि ये इंडस्ट्री काफ ी बड़ी है। इसमें एक्सपोर्ट हाउसेस, डिजाइनर स्टोर, एसेसरीज स्टोर आदि होती है। अगर आप एक एक्सपोर्ट हाउस भी शुरू करते हैं, तो उसमें पीआर डिपार्टमेंट, डवलपमेंट डिपार्टमेंट, प्रोडक्ट डवलपमेंट टीम, डिजाइनिंग टीम, फैशन फ ॉर कास्टर्स आदि शामिल रहते हैं। ऐसे में उन्हें टीम वर्क में प्रमोट किया जाना जरूरी होता है।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned