5000 रुपए लेना उपयंत्री को पड़ा इतना महंगा, अब भुगतना पड़ेगा बड़ा नुकसान

5000 रुपए लेना उपयंत्री को पड़ा इतना महंगा, अब भुगतना पड़ेगा बड़ा नुकसान

monu sahu | Publish: May, 18 2018 02:08:38 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

5000 रुपए लेना उपयंत्री को पड़ा इतना महंगा, अब भुगतना पड़ेगा बड़ा नुकसान

ग्वालियर। शिवपुरी जिला एवं सत्रन्यायाधीश आरबी कुमार ने आवास योजना की एमबी जारी करने के लिए ५ हजार रुपए की रिश्वत लेने वाले आरोपी उपयंत्री को दोषी मानते हुए उसे ४ साल की कैद व ७ हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। मामले में पैरवी शासकीय लोक अभियोजक हजारी लाल बैरवा ने की। मीडिया प्रभारी व एडीपीओ कल्पना गुप्ता ने बताया कि १४ अक्टूबर २०१५ को करैरा निवासी अरविंद दुबे ने ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके भाई दिनेश दुबे ने सरपंच कार्यकाल में सेटलमेंट आवास योजना के तहत २५ कुटीर व एकीकृत आवास योजना के तहत १० कुटीरों में से ४ का काम पूर्ण करवा दिया था तथा ६ का काम अधूरा था।

यह भी पढ़ें : breaking : प्यासी जनता ने घेरी मंत्री यशोधरा की गाड़ी,दिया ऐसा जवाब सब रह गए हक्के-बक्के

इस कार्य की एबी जारी करने के लिए करैरा जनपद कार्यालय में पदस्थ उपयंत्री वीरेन्द्र कुमार व्यास ने उससे ५० हजार रूपए की रिश्वत की मांग की थी। इस शिकायत पर से लोकायुक्त पुलिस ने २० अक्टूबर २०१५ को आरोपी उपयंत्री को उसके घर से ५ हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए दबोच लिया था।

यह भी पढ़ें : 27 मई का दिन इन राशियों के लिए लेकर आएगा खुशखबरी, जानिए अपनी राशि

लोकायुक्त पुलिस ने इस मामले में आरोपी उपयंत्री के खिलाफ मामला दर्जकर चालान न्यायालय में पेश किया था। इस पर सुनवाई के बाद जिला एवं सत्रन्यायाधीश ने गुरुवार को यह फैसला सुनाया। सजा के बाद उपयंत्री को जेल भेजने की कार्रवाई की गई है।

 

पांच बाइक के साथ दो वाहन चोर गिरफ्तार
थाना क्षेत्र अन्तर्गत आने वाली खोड़ चौकी पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर दो वाहन चोरों को 5 बाइक सहित गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक बुधवार की रात उन्हें सूचना मिली कि एक व्यक्ति चोरी की बाइक से खोड़ बसस्टैंड के आसपास घूम रहा है। चौकी प्रभारी नीतेश जैन ने तत्काल थाना प्रभारी डांॅ संतोष यादव को मामले से अवगत कराते हुए मौके पर फोर्स लेकर पहुंचे तो वहां एक व्यक्ति बाइक पर संदिग्ध नजर आया। पूछताछ के दौरान जब उससे बाइक के कागज मांगे गए तो वह नहीं दिखा सका। इसके बाद पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने आसपास के क्षेत्र से बाइक चोरी करना स्वीकारा। साथ ही अपने एक और साथी के बारे में भी जानकारी दी।

 


पुलिस ने खोड़ कब्रिस्तान के पास दबिश देकर एक अन्य व्यक्ति को वहां से पकड़ लिया। दोनों से पूछताछ के बाद पुलिस ने इनके कब्जे से पांच बाइक बरामद की हैं। पकड़े गए आरोपियों के नाम छोटे राजा उर्फ पवन परमार निवासी शेरगढ़ एवं राजू उर्फ राजेन्द विश्वकर्मा निवासी विजयपुर बताए गए हैं। पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

Ad Block is Banned