scriptDespite having relatives like MLA and PM, lost in council elections | एक चुनावी किस्सा: जब एक सामान्य पार्षद से प्रधानमंत्री के भतीजे को करना पड़ा हार का सामना | Patrika News

एक चुनावी किस्सा: जब एक सामान्य पार्षद से प्रधानमंत्री के भतीजे को करना पड़ा हार का सामना

A popular political story of MP- प्रधानमंत्री और विधायक जैसे रिश्तेदारों के होते भी देखना पड़ निगम परिषद चुनाव में हार का चेहरा
- निगम परिषद में कांग्रेस के थे 29 ही पार्षद, लेकिन वोटिंग में मिले 36 वोट

ग्वालियर

Published: June 26, 2022 05:27:38 pm

ग्वालियर। ग्वालियर निगम परिषद के सन 1999 में हुए चुनाव कुछ अप्रत्याशित नतीजों के लिए अब तक याद किए जाते हैं। कुछ ऐसा ही नतीजा था देश के तब के प्रधानमंत्री के भतीजे की पराजय।

ek_kissa_special.png

दरअसल भाजपा ने ग्वालियर दक्षिण के वार्ड 55 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के भतीजे दीपक वाजपेयी को अपना प्रत्याशी बनाया था। दीपक वाजपेयी को चुनाव जिताने के लिए भाजपा की स्थानीय इकाई ने पूरी ताकत लगा दी थी। लेकिन कांग्रेस के प्रत्याशी आनंद शर्मा ने उन्हें चुनाव में हरा दिया। प्रधानमंत्री के भतीजे की पराजय देशभर के अखबारों की सुर्खियां बनी और इधर ग्वालियर में छात्र राजनीति से कांग्रेस में आए आनंद शर्मा एकदम से कांग्रेस के स्थानीय स्तर पर अग्रणी पंक्ति के नेता बन गए।

वहीं, कांग्रेस के प्रत्याशी आनंद शर्मा का यह दूसरा चुनाव था। वे पहले भी 1994 के निगम चुनाव में इसी वार्ड से पार्षद चुने गए थे, जबकि दीपक वाजपेयी का यह पहला चुनाव था, जिसमें उन्हें पराजय मिली।

तत्कालीन प्रधानमंत्री के भांजे अनूप मिश्रा पहले ही 1990 के विधानसभा चुनाव में गिर्द से विधायक चुने जा चुके थे और 1999 के निगम चुनाव में दीपक वाजपेयी को परिषद में पहुंचाकर नगर सरकार की राजनीति में प्रतिष्ठित करने का प्रयास था, जो सफल नहीं हुआ।

उधर आनंद शर्मा को पार्टी में वजन देते हुए जिला कांग्रेस में उपाध्यक्ष, महामंत्री और मीडिया प्रभारी जैसे पद मिले।

प्रदेश की राजधानी पर प्रशासनिक कामकाज का दबाव कम करने के उद्देश्य से तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने जब जिला सरकारों की स्थापना की तो ग्वालियर में हुए जिला सरकार के चुनाव में आनंद शर्मा नगरीय विकास समिति के चेयरमैन चुने गए।

खास बात यह रही कि परिषद में कांग्रेस के 29 ही पार्षद थे, लेकिन भाजपा में क्रास वोटिंग हुई और आनंद शर्मा को 36 वोट मिले। नगरीय विकास समिति के चेयरमैन के रूप में शर्मा ने उपनगर ग्वालियर के हजीरा चौराहे पर मजदूर नेता दिवंगत रामचंद्र सर्वटे की प्रतिमा स्थापित कर इस चौराहे के सौंदर्यीकरण जैसे कई बड़े काम किए। साल 2004 में वार्ड 55 ओबीसी महिला आरक्षित हो गया। आनंद ने यह चुनाव पड़ोसी वार्ड 51 से लड़ा यह वार्ड परिवर्तन उनके लिए चुनावी दृष्टि से महंगा साबित हुआ और वे पराजित हो गए। इसके बाद साल 2009 में आनंद शर्मा ने वार्ड 48 से चुनाव लड़ा और वह एक बार फिर से निगम परिषद में जीतकर पहुंचे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

शेयर मार्केट के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली अंतिम सांसRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंदMaharashtra: रायगढ़ के पूर्व विधायक विनायक मेटे की सड़क दुर्घटना में मौत, मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर हुआ भीषण हादसाJ-K: स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकियों का ग्रेनेड से हमला, कुलगाम में पुलिसकर्मी शहीदकैबिनेट विस्तार से पहले आज नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव से मुलाकात करेगी कांग्रेस!राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज 76वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को करेंगी संबोधितNashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरल14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़े
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.