प्रतिबंध के बावजूद बाजार में बिक रहा खुला तेल

- खाद्य विभाग का अमला नहीं देता ध्यान, हाल ही में इंदौर खाद्य विभाग ने खुले तेल को लेकर की थी बड़ी कार्रवाई
- मिलावट पर रोक लगाने एफएसएसएआइ और एफडीए ने खुलेे तेल लगा रखा है प्रतिबंध

By: Narendra Kuiya

Published: 25 Sep 2021, 10:52 AM IST

ग्वालियर. मिलावट पर रोक लगाने के लिए भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआइ) और खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने खाने का खुला तेल बेचने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। इसके बावजूद शहर में कुछ कारोबारी खुलेआम खुला तेल बेच रहे हैं। धड़ल्ले से खुले तेल का कारोबार करने वाले व्यापारियों पर फूड अधिकारियों का ध्यान ही नहीं है।

गरीबों की आड़ में बेचते हैं खुला तेल
सरकार की ओर से खुला तेल बेचने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई गई है, फिर भी किराना कारोबारी गरीबों का बहाना करके खुला तेल बेचते हैं। ऐसे कारोबारियों का मत यह है कि गरीब लोग ब्रांडेड पैकिंग और एक लीटर जितनी मात्रा का तेल नहीं खरीद पाते हैं, उन्हें तो सिर्फ 100 ग्राम, 200 ग्राम तेल ही लगता है। ऐसे में खुला तेल रखना पड़ता है। पर ऐसे खुले तेल की आड़ में मिलावट की पूरी आशंका रहती है।

इंदौर में हुई थी कार्रवाई
इस साल अगस्त माह में खुले तेल को लेकर इंदौर में बउ़ी कार्रवाई की गई थी। जिसमें करीब 1400 किलो सोयाबीन का तेल जब्त किया गया था। दुकानदारों पर केस भी दर्ज किए गए थे। यहां खुले तेल की बिक्री की जानकारी किसी ने सीएम हेल्पलाइन पर दी थी। इसी तरह की बड़ी कार्रवाई की ग्वालियर में भी दरकार है। खासकर फुटकर और थोक किराना कारोबारी इस तरह के खुले तेल की बिक्री कर रहे हैं।

दुकानें चिहिन्त करके कार्रवाई करेंगे
वर्तमान में खुला तेल बेचना प्रतिबंधित है, क्योंकि इसके अमानक होने की आशंका रहती है। शहर में दुकानें चिन्हित की जा रही हैं। जहां इस तरह का खुला तेल बेचा जा रहा है, शासन के निर्देशों के मुताबिक विभाग का अमला उन कार्रवाई करेगा।
- डॉ.संजीव खेमरिया, अभिहित अधिकारी, खाद्य एवं सुरक्षा प्रशासन विभाग

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned