डायल 100 ने घर आकर दर्ज की जिले में पहली एफआइआर

रेल स्प्रिंग कारखाने के कर्मचारी से टैरर टैक्स मांगने का मामला समाने आया है। उन्हें धमकी मवेशी चोर दे रहे थे। पैसा नहीं पहुंचाने पर कर्मचारी को कारखाने से किडनेप करने और जान से मारने की धमकी मिल रही थी। बदमाशों की हरकत पुलिस को बताई तो डायल 100 ने कर्मचारी के घर जाकर एफआइआर दर्ज की। जिले की पहली कार्रवाई जिसमें पुलिस ने पीडि़त के घर जाकर एफआइआर दर्ज की है।

ग्वालियर. रेल स्प्रिंग कारखाने के कर्मचारी से टैरर टैक्स मांगने का मामला समाने आया है। उन्हें धमकी मवेशी चोर दे रहे थे। पैसा नहीं पहुंचाने पर कर्मचारी को कारखाने से किडनेप करने और जान से मारने की धमकी मिल रही थी। बदमाशों की हरकत पुलिस को बताई तो डायल 100 ने कर्मचारी के घर जाकर एफआइआर दर्ज की। जिले की पहली कार्रवाई जिसमें पुलिस ने पीडि़त के घर जाकर एफआइआर दर्ज की है।
सुंदर सिंह परिहार निवासी सिंधिया नगर पहाड़ी ने बताया 12 मार्च को उनकी गाय घर के दरवाजे से चोरी हुई थी। करीब 20 दिन तक गाय को ढूंढा तो अलापुर में कल्ली गुर्जर के घर गाय बंधी मिल गई। उसे वापस मांगने गए तो कल्ली का रिश्तेदार रामप्रकाश बीच में आ गया। बोला गाय उसने मेले से खरीदी है। लेकिन मवेशी खरीदने की पर्ची और उसके मालिक का नाम पता नहीं बता सका। उन्हें समझाया कि गाय लौटा दो वरना पुलिस दबोच कर ले जाएगी, तो मवेशी चोरों ने पैंतरा बदल दिया गाय तो लौटा दी लेकिन 6 हजार रु पनिहाई तय की।

थाने में आवेदन, अब एफआइआर
सुंदर सिंह ने बताया कि करीब चोरी की घटना करीब 42 दिन पहले ही पुलिस को बताई थी। उसके बाद कोरोना वायरस की वजह लॉकडाउन हो गया तो घर से बाहर नहीं निकले। मंगलवार दोपहर करीब डेढ़ बजे रामप्रकाश गुर्जर निवासी सिथौली का फोन आया कि 6 हजार रुपए का इंतजाम कर लो वरना नौकरी नहीं करने देंगे।

Covid-19 Real Heroes
रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned