तीन करोड़ खर्च करके भी दिशाएं बता रहा है गलत डिजीटल साइन बोर्ड, अरे अभी टेस्टिंग चल रहा है हो जाएगा सही

तीन करोड़ खर्च करके भी दिशाएं बता रहा है गलत डिजीटल  साइन बोर्ड, अरे अभी टेस्टिंग चल रहा है हो जाएगा सही

Gaurav Sen | Publish: Sep, 11 2018 01:26:20 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

तीन करोड़ खर्च करके भी दिशाएं बता रहा है गलत डिजीटल साइन बोर्ड

ग्वालियर. स्मार्ट सिटी के तहत शहर के प्रमुख स्थानों पर लगाए गए वैरिएबल मैसेज साइन बोर्ड गलत जानकारी दे रहे हैं, इससे लोग भ्रमित हो रहे हैं। लोगों को टै्रफिक, मौसम, हवा की गति आदि जानकारी देने के लिए स्मार्ट सिटी कॉर्पोरेशन लिमिटेड की ओर से शहर के प्रमुख स्थानों पर वैरिएबल मैसेज साइन बोर्ड (वीएमएस) लगाए जा रहे हैं। जिन स्थानों पर वीएमएस बोर्ड प्रारंभ कर दिए गए हैं, वहां मिलने वाली जानकारी गलत आ रही है। शहर में 10 स्थानों पर 3 करोड़ के वीएमएस बोर्ड लगाए जा रहे हैं। करीब 30 लाख की कीमत वाले वीएमएस बोर्ड को देखने की बजाय आमजन सही जानकारी के लिए गूगल पर सर्च कर रहे हैं।

BREKING NEWS: म.प्र पुलिस के इस थाना प्रभारी पर हुआ लूट-डकैती का मामला दर्ज, जाना जाता है अपने सिंघम स्टाइल के लिए

हवा की स्पीड 10, बता रहा 29 किमी

पत्रिका ने दोपहर के समय रेलवे स्टेशन के बाहर लगे वीएमएस बोर्ड पर हवा में नमी की मात्रा और हवा की गति को देखा तो बोर्ड गलत जानकारी दे रहा था। वीएमएस बोर्ड हवा में नमी की मात्रा 77 बता रहा था, जबकि गूगल पर नमी की मात्रा 85 दिख रही थी। बोर्ड पर हवा की गति 29 किमी प्रति घंटा दिख रही थी, जबकि गूगल इसे 10 किमी प्रति घंटा बता रहा था।


BREKING NEWS: थाने से भागने की फिराक में पुलिस कर्मियों पर किया जानलेवा हमला, वीडियो देखकर रौंगटे खड़े हो जाएंगे

यहां लग रहे वीएमएस बोर्ड
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत फूलबाग गुरुद्वारा रोड, रेलवे स्टेशन, उरवाई गेट, हजीरा रोड पाताली हनुमान मंदिर, सिटी सेंटर स्थित राजमाता चौराहा पर वीएमएस बोर्ड प्रारंभ कर दिए गए हैं, जबकि सिटी सेंटर पुल, गोले का मंदिर चौराहा, स्काउट गाइड के सामने बाड़ा, ओल्ड सर्किट हाउस, गश्त का ताजिया, मराठा बोर्डिंग और इंदरगंज पर शुरू होना बाकी है। वीएमएस बोर्ड का संचालन नगर निगम के सिटी सेंटर मुख्यालय पर बने कंट्रोल ऑफिस से किया जा रहा है।

Ad Block is Banned