बीच सडक़ पर रोककर सवारी भरते हैं वाहन चालक

टेम्पो और ऑटो चालक अपनी मनमर्जी के अनुसार ही चौराहे पर खड़े होकर सवारियां बैठाते हैं, दोपहर के समय तो यहां पर हालात और भी बिगड़ जाते हैं।

ग्वालियर. टेम्पो और ऑटो चालक अपनी मनमर्जी के अनुसार ही चौराहे पर खड़े होकर सवारियां बैठाते हैं, दोपहर के समय तो यहां पर हालात और भी बिगड़ जाते हैं। क्योंकि दोपहर के समय स्कूली वाहनों का निकलना भी होता है। ऐसे में चौराहे पर लगने वाले जाम के कारण स्कूली वाहनों में सवार बच्चों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। कई बार तो जाम में एंबुलेंस भी फंस जाती है। क्योंकि हजीरा अस्पताल तक जाने का यह मुख्य रास्ता बना हुआ है। जिसके चलते मरीजों को भी परेशानी उठानी पड़ती है।

किलागेट चौराहे पर लगने वाले जाम की समस्या विकराल रूप लेती जा रही है। क्योंकि चौराहे पर बेतरतीव टेम्पो और ऑटो के अलावा दो पहिया व चार पहिया वाहन खड़े रहते हैं। जिसके चलते हर समय ही जाम की स्थिति बनती है। टेम्पो और ऑटो चालक तो बीच सडक़ पर ही खड़े होकर सवारियां भरते हैं, जिससे अन्य वाहन नहीं निकल पाते हैं। अहम बात तो यह है कि जिस जगह पर जाम की स्थिति बनती है, वहां से चंद दूरी पर ही पुलिस स्टेशन बना हुआ है, लेकिन थाने के पुलिस बल की ओर से चौराहे पर आए दिन लगने वाले जाम की समस्या से निजात दिलाए जाने के संबंध में कोई प्रयास तक नहीं किए जाते हैं।

थाने के समीप ही आए दिन लगने वाले जाम का अहम कारण बने ऑटो और टेम्पो चालकों की मनमानी के आगे पुलिस की कार्य प्रणाली पर भी सवालिया निशान लगते हैं। ऐसे में कार्रवाई के अभाव का फायदा ऑटो और टेम्पो चालक उठाते हैं। खास बात तो यह है कि टेम्पो और ऑटो चालकों के खड़े होने के लिए किलागेट के समीप ही पार्किंग का स्थान चिन्हित किया गया है, जहां पर बोर्ड भी लगाया गया है।

इसके अलावा कई बार तो पर्यटकों के वाहन भी जाम में फंस जाते हैं। क्योंकि किला घूमने के लिए आने वाले पर्यटकों के वाहन भी किलागेट के समीप ही खड़े होते हैं। जिन्हें भी निकलने का रास्ता नहीं बचता है। इसके बावजूद भी चौराहे पर लगने वाले जाम के संबंध में न तो ट्रैफिक पुलिस ने कोई पहल की है और न ही स्थानीय प्रशासन इसे गंभीरता से ले रहा है।
अभियान चलाकर करेंगे प्रयास
-शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के लिए टेम्पो और ऑटो चालकों को कई बार हिदायत देकर निर्धारित स्थान पर ही वाहनों को खड़ा कर सवारियां बैठने को कहा गया है। इसके बावजूद भी अगर ऑटो और टेम्पो चालक मनमानी के अनुसार सडक़ों पर खड़े होकर सवारियां बैठा रहे हैं तो इसके लिए अभियान चलाकर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार का प्रयास करेंगे।
नरेश अन्नोटिया, ट्रैफिक डीएसपी

Show More
राजेश श्रीवास्तव Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned