एक्सपोज न्यूज... बूंद-बूंद अनमोल, लेकिन यहां हर रोज सड़कों पर व्यर्थ बह रहा है हजारों लीटर पीने का पानी

शहर में लोगों तक आसानी से पेयजल पहुंच सके इसके लिए नगर निगम और सरकार लगातार प्रयास कर रही है, लेकिन शहर में कुछ इलाके ऐसे भी...

ग्वालियर. शहर में लोगों तक आसानी से पेयजल पहुंच सके इसके लिए नगर निगम और सरकार लगातार प्रयास कर रही है, लेकिन शहर में कुछ इलाके ऐसे भी हैं, जो पीने के स्वच्छ पानी को नालियों में बहा रहे हैं। हर रोज हजारों लीटर पानी सड़कों से बहकर नालियों में समा रहा है। अगर अब भी इस पर ध्यान नहीं दिया तो गर्मी के सीजन में लोगों को पानी के लिए तरसना पड़ सकता है। दरअसल पानी की यह बर्बादी जीवाजीगंज से गेंडेवाली सड़क पर ज्यादा होती है। एक्सपोज टीम ने सड़कों पर पानी की बर्बादी का जायजा लिया तो कई जगहों पर सड़कों, मेनहॉल और नालियों में पीने का फैलता मिला।

इस तरह पानी की बर्बादी
पानी की बर्बादी, रामाजी का पुरा, निम्बाजी की खोह के अलावा सबसे ज्यादा गेंडेवाली सड़क पर मिली। दरअसल इन इलाकों में पीने के पानी की सप्लाई रात में होती है। उस दौरान ज्यादातर लोग नींद में होते हैं। बिस्तर छोडऩे से बचने के लिए ज्यादातर लोग नलों को खुला छोड़ देते हैं, इसलिए पानी भरने के बाद बंद करने की सुध नहीं रहती है। बिना वजह नलों से पानी बहता है। इस तरह पानी की बिना वजह बर्बादी हर दूसरे दिन पानी सप्लाई के दौरान होती है। यहां रहने वालों ने बताया कि पहले पानी नालियों में ज्यादा बहता था, अब लोगों ने घर की नालियों का कनेक्शन मेनहॉल के पाइप में करा दिया है तो रात में नल सप्लाई के दौरान इतना पानी भर जाता है कि मेन हॉल भी उफन जाते हैं। उनमें से पानी बहता है।


सड़कों पर बहता पानी
गेंडेवाली सड़क निवासी रमेश ने बताया कि लोग तो बर्बादी कर रहे हैं पानी महकमा भी लापरवाह है। सड़क पर कई जगहों पर पानी की दिशा मोडऩे और रोकने के लिए बॉल्व लगे हैं। उनमें भी लीकेज है। पानी की सप्लाई शुरू होने पर इन लीकेज से भी काफी पानी बहता है, जब तक सप्लाई चलती है लीकेज से इतना पानी सड़कों पर बहता है कि सड़क पानी से भर जाती है। इससे सड़क का डामर तो उखड़ता है पानी भी बर्बाद होता है। पानी सप्लाई करने के लिए पानी महकमे के कर्मचारी आते हैं उन्हें भी सब पता है, लेकिन इसे रोकने के लिए पर्याप्त इंतजाम नहीं होते।

सम्पवैल के पास घाटी पर पानी का बहाव
गेंडेवाली सड़क पर पहाड़ी पर रहने वालों के लिए सम्पवैल लगा है। इसे भरने के लिए मेनलाइन से कनेक्शन दिया है। इसलिए सत्यनारायण की टेकरी के रास्ते के पास वॅाल्व लगाकर पानी की आगे की सप्लाई रोककर सम्पवैल को भरा जाता है। यहां दो वॅाल्व कुछ दूरी पर लगे हैं। दोनों से पानी लीकेज होता है। इतना पानी बहता है रामकुई की तरफ जाने वाला घाटी का रास्ते पर पानी की धार बहती है। इसी तरह पानी सप्लाई शुरू होने के कुछ देर बाद ही नालियां भी पानी से लबालब होकर बहती हैं।


इतना पानी बर्वाद कि इलाका पानी इस्तेमाल कर सके
रहवासियों के मुताबिक इसी इलाके में पीने का इतना पानी बर्वाद होता है कि अगर उसे बचाया जाए तो यह पूरा इलाका पानी इस्तेमाल कर सकता है। इस बर्वादी को रोकने के लिए कई बार शिकायत भी कई है। पानी सप्लाई चालू करने आने वाले कर्मचारियों को भी बताया है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है। अब गर्मियों में पानी की किल्लत होगी ऐसे में पानी की इतनी बर्वादी इस परेशानी को और बढ़ाएगी।


पानी की बर्बादी रोकी जाएगी
इसे बंद कराया जा रहा है। न्यूशांति नगर के पास से इसे टूटे हए प्वॉइंटस और ऐसे नल कनेक्शन बंद कराया जा रहे हैं जिनसे पानी फैलता है। जिनके नल बह रहे हैं उन्हें जड़ से काटा जा रहा है। करीब सात प्वॉइंट ठीक किए हैं। जिन वॉल्व से पानी बह रहा है उसे भी ठीक कराया जाएगा। पानी की बर्वादी रोकी जाएगी।
योगेश खोत, सब इंजीनियर पीएचई

रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned