सब्जी विक्रय केंद्र बनाने से मेले का हुआ कबाड़ा, भारी वाहनों से टूटीं पेवर, चैंबर और सडक़ें बर्बाद

- कोरोना संक्रमण काल के चलते मेले में खोला गया है सब्जी विक्रय केंद्र
- ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण के मुताबिक करीब 50 लाख तक हुआ नुकसान, मेला सचिव ने मंडी सचिव और कलेक्टर को लिखा पत्र

By: Narendra Kuiya

Published: 01 Aug 2021, 05:38 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर की शान कहा जाने वाला ग्वालियर व्यापार मेला इन दिनों बहुत ही बुरी हालत में है। वजह है यहां बनाया गया सब्जी विक्रय कें्रद। सब्जियों की खरीद-बिक्री के लिए आने वाले वाहनों ने मेले की दुकानों-कोठरी, सडक़, पेवर, कॉम्पलेक्स और चैंबरों को तहस-नहस कर दिया है। कोरोना संक्रमण काल के चलते जिला प्रशासन ने मेले में इस सब्जी विक्रय केंद्र को शुरू कराया था, पर अब लक्ष्मीगंज स्थित नवीन सब्जी मंडी प्रांगण में कामकाज शुरू होने के बाद भी यहां काम किया जा रहा है। मेले की इतनी बुरी हालत के चलते ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण भी चिंतित है इसके लिए प्राधिकरण के सचिव की ओर से मंडी सचिव और कलेक्टर को पत्र भी लिखा गया है।

मुख्य सडक़ ही खोद दी
ग्वालियर व्यापार मेले में पक्की सडक़ें बनी हुई हैं। यहां बनी सडक़ों को वाहनों ने तोड़ दिया है। वहीं मेला के प्रवेश द्वार की मुख्य सडक़ भी खुद गई है। बारिश के बाद तो मेले में और भी बुरा हाल हो गया है। यहां हर तरफ कीचड़ देखी जा सकती है।

कॉम्पलेक्स की टंकी और टोटियां भी गायब
मेले में शौचालय कॉम्पलेक्स भी बनाए गए हैं। सब्जी विक्रय केंद्र शुरू होने के बाद यहां से टंकियां सहित नलों के लगी टोटियां भी गायब हो गई हैं। यहां बने चैंबर भी वाहनों ने तोड़ दिए हैं। इसके साथ ही मेले में बनी पक्की दुकानें और कोठरियां भी वाहनों की टक्कर से टूट गई हैं।

50 लाख रुपए का नुकसान
ये बात सही है कि व्यापार मेले की हालत बहुत खराब हो चुकी है। यहां करीब 50 लाख रुपए का नुकसान हुआ होगा। इसे ठीक करने के लिए मंडी सचिव और जिला प्रशासन को पत्र लिखा गया है।
- निरंजनलाल श्रीवास्तव, सचिव, ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण

दिखवा लेते हैं
हमने मेले में सफाई तो कराई है। पर यदि आप तोडफ़ोड़ की बोल रहे हैं तो इसे भी दिखवा लेते हैं। जहां तक मेला प्राधिकरण से पत्र मिलने की बात है तो अभी तक कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है।
- गजेन्द्र सिंह तोमर, सचिव, कृषि उपज मंडी समिति लश्कर

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned