कोरोना का असर घटने से बढ़ा बाहर खाने का चलन, 70 फीसदी बढ़ गया रेस्टॉरेंट बिजनेस

- शुभ संकेत : श्रावण मास में कम होने के बाद फिर से रेस्टॉरेंट की ओर जाने लोग
- ऑनलाइन फूड ऑर्डर में भी होने लगी बढ़ोतरी

By: Narendra Kuiya

Published: 07 Sep 2021, 09:37 AM IST

ग्वालियर. कोरोना का असर कम होने, वैक्सीनेशन में तेजी आने का असर बाजार के अलग-अलग सेक्टर पर दिखने लगा है। फूड सेक्टर भी धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहा है। कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण बंद हुए रेस्टॉरेंट खुलने के बाद भी वहां शहरवासी जाने से कतरा रहे थे, बाहर का खाना खाने से परहेज करने वाले वही लोग अब रेस्टॉरेंट पहुंचकर खाना खा रहे है। यही कारण है कि इटिंग आउट (बाहर का खाना खाने का चलन) फिर से लौट आया है। रेस्टॉरेंट कारोबारियों की मानें तो इसमें 70 फीसदी तक का इजाफा हो चुका है। श्रावण मास में जरूर ग्राहक कम आए थे, पर अब इनकी संख्या में काफी बढ़ोतरी है।

छुट्टी के दिनों में फुल
कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद खोले गए रेस्टॉरेंट में वैसे तो हर रोज आमजन खाना खाने पहुंच रहे हैं पर खासकर रविवार और मंगलवार जैसे छुट्टी के दिन इनमें काफी भीड़ देखने को मिल रही है। लोग अपने परिवारवालों के साथ ही खाना खाने के लिए पहुंच रहे हैं। नई सडक़ पर रेस्टॉरेंट चलाने वाले राजू अरोरा और विजय चोपड़ा ने बताया कि पहले जो लोग रेस्टॉरेंट नहीं जा रहे थे, वे भी अब यहां आ रहे हैं। आने वाले दिनों में ग्राहकों की संख्या में और भी इजाफा हो सकता है। फिलहाल 70 फीसदी तक बढ़ोतरी हो चुकी है। महंगाई के चलते फूड के दाम बढऩा चाहिए थे लेकिन अभी ग्राहकों की संख्या के असमंजस के चलते दाम बढ़ाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं।

70 से 80 फीसदी ऑर्डर हर रोज मिल रहे
ऑनलाइन फूड बाजार ने भी एक बार फिर से रफ्तार पकड़ ली है। एक फेमस ऑनलाइन फूड सर्विस प्रोवाइडर के टीम लीडर मयंक सिंह चौहान ने बताया कि कोरोना काल में ग्राहक काफी हेल्थ कॉन्शस हो गया है। इसके चलते वह प्रॉपर हाइजीन फूड की डिमांड करता है, इसके चलते सभी रेस्तरां को हाइजीन फूड के लिए ही बोल रहे हैं। कोरोना काल के दौरान मार्केट काफी अप-डाउन रहा है, पर अब रोजाना 70 से 80 फीसदी ऑर्डर मिलने लगे हैं।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned