सरकारी कॉलेज में पढ़कर इलेक्ट्रिशियन की बेटी ने हासिल की 532 वीं रैंक

यूपीएससी सिविल सर्विसेज का फायनल परिणाम शुक्रवार को घोषित हुआ है, जिसमें ग्वालियर के हजीरा निवासी उर्वशी सेंगर ने 532 वीं रैंक हासिल की है। अर्थ ने हासिल की 16 वीं रैंक

By: Subodh Tripathi

Updated: 25 Sep 2021, 05:31 PM IST

ग्वालियर. आज के जमाने में परिजन जहां अपने बच्चों को सरकारी की अपेक्षा प्रायवेट स्कूल कॉलेजों में इसलिए भेजते हैं। ताकि उनका बच्चे का भविष्य उज्जवल हो, लेकिन कहते हैं, पढऩे में सच्ची लगन और लगातार मेहनत की जाए तो निश्चित ही किसी भी मंजिल को हासिल करना मुश्किल नहीं है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया, शहर की बेटी उर्वशी ने, उन्होंने सरकारी कॉलेज में पढ़कर भी यूपीएससी में 532 वीं रैंक हासिल की है।

इलेक्ट्रिशियन की बेटी है उर्वशी

यूपीएससी सिविल सर्विसेज 2020 का फायनल परिणाम शुक्रवार को घोषित हुआ है, जिसमें ग्वालियर के चार शहर का नाका हजीरा निवासी उर्वशी सेंगर ने 532 वीं रैंक हासिल की है। जबकि उर्वशी ने सरकारी कॉलेज से ही ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की है। उनके पिताजी इलेक्ट्रिशियन है, इस प्रकार सीमित संसाधनों के बावजूद भी उर्वशी ने पढ़ाई में कोई कसर नहीं छोड़ी और आज अपना व परिवार का नाम रोशन कर दिया। उनके पिता रविंद्र सेंगर ने अपनी बेटी द्वारा हासिल की गई इस उपलब्धि पर गर्व महसूस किया और उन्होंने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद थी कि वह निश्चित ही एक दिन कुछ ऐसा कर दिखाएगी।

राम सा आदर्श और कहां, इसलिए राम का पाठ किया कोर्स में शामिल

अर्थ ने हासिल की 16 वीं रैंक

ग्वालियर में ही अपने पिता के साथ रहने वाले मध्यप्रदेश परिवहन आयुक्त मुकेश जैन के बेटे अर्थ जैन ने ऑल इंडिया में 16 वीं रैंक हासिल की है। इस उपलब्धि पर अर्थ ने कहा- उन्हें अपने पिता के मार्गदर्शन के चलते यह सफलता मिली है। उन्होंने दूसरे प्रयास में यह रैंक हासिल की है।

परीक्षा होने से पहले यू-ट्यूब पर अपलोड हो गए बोर्ड कक्षाओं के पेपर

उर्वशी ने तीसरी बार में हासिल की यह रैंक

उर्वशी ने बताया कि उन्होंने जब परीक्षा की तैयारी शुरू की तो टीवी और मोबाइल से दूरी बना ली थी। वे रोज 12 से४ 14 घंटे तक पढ़ाई करती थी। उन्होंने तीसरे प्रयास में यह उपलब्धि हासिल की थी, जबकि अर्थ ने यह दूसरे प्रयास में सफलता पाई थी।

Subodh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned