बकाएदारों की संपत्ति कुर्क करेगी बिजली कंपनी

भिण्ड. जिलेभर में विद्युत उपभोक्ताओं पर बकाया बिल की वसूली के लिए विद्युत कंपनी बड़े उपभोक्ताओं के नाम शहर के चौराहों पर चस्पा करेगी। इसके लिए कंपनी ने पूरी तैयारी कर ली है। सबसे पहले लहार क्षेत्र के बड़े बकायादारों के नाम एक हफ्ते के अंदर नगर के चौराहों की होर्डिंग्स पर लगाए जाएंगे।

By: Vikash Tripathi

Updated: 12 Feb 2021, 11:12 PM IST

जिलेभर में विद्युत उपभोक्ताओं की संख्या 2 लाख 69 हजार 570 है। जिनपर 931 करोड़ रूपए की राशि बकाया है। जिलेभर में करीब 2 लाख से अधिक उपभोक्ताओं के द्वारा बिल का भुगतान नहीं किया जा रहा है। जिसकी वसूली के लिए कंपनी के द्वारा नई योजना बनाई गई है। इसी के तहत विद्युत कंपनी जिलेभर के बड़े बकाएदारों के नाम सार्वजनिक कर उनके होर्डिंग्स लगाने जा रही है। यह होर्डिंग जिले के प्रत्येक कस्बे के चौराहों व मुख्य स्थलों पर लगाएगी। इसके अलावा इन बड़े बकाएदारों की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई भी की जाएगी। कंपनी के द्वारा प्रतिमाह जिलेभर में 12 करोड़ रूपए की बिजली मुहैया कराई जाती है। जबकि वसूली केवल 7 से 8 करोड़ रूपए ही हो पाती है। इस तरह से कंपनी को सीधे तौर पर नुकसान होता है। वहीं विद्युत चोरी के मामले को देखें तो कंपनी को प्रतिमाह 80 प्रतिशत तक नुकसान हो रहा है।

10 लाख वाले 55 व 1 लाख वाले 2500 बकाएदार.

जिलेभर विद्युत वितरण कंपनी के बकाएदारों में 55 उपभोक्ता ऐसे हैं जिन पर 10 लाख से अधिक का बिल बकाया है। जबकि 2500 उपभोक्ता ऐसे हैं जिनपर 1 लाख से अधिक बिल की राशि बकाया है। कंपनी ने इन सभी को नोटिस थमाकर चेतावनी जारी की है। यदि यह लोग समय रहते बिल जमा नहीं कराते हैं। तो इनके नामों को प्रमुखता से नगर के मुख्य स्थानों की होर्डिंग्स पर लगाए जाएंगे। इसके अलावा कंपनी के नियम व शर्तों के तहत संपत्ति कुर्क करने का कार्रवाई भी होगी।

स्थानीय स्तर पर सार्वजनिक किए जाएंगे नाम.
उल्लेखनीय है कि जिलेभर के बड़े बकाएदारों के नाम भिण्ड शहर ही नहीं बल्कि स्थानीय स्तर पर सार्वजिक किए जाएंगे। इसके लिए विद्युत कंपनी के द्वारा लहार, मेहगांव, अटेर, गोहद में भी मुख्य स्थानों पर बकाएदारों के नाम चस्पा करने की तैयारी की है। दरअसल विद्युत कंपनी के द्वारा ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि विद्युत बिल भुगतान नहीं करने वाले बकाएदारों को नाम सार्वजनिक होने पर शर्म महसूस हो और वह अपने सम्मान की खातिर बकाया बिल की राशि का भुगतान करें।

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned