नशा तस्कर के दुश्मनों ने दिया इनपुट, पुलिस ने धरा

नशा तस्कर इससे पहले भी यूपी से नशा लाता रहा है

तस्करों से पकडी गई स्मैक की कीमत 12 लाख है

By: Puneet Shriwastav

Published: 14 Oct 2021, 01:47 AM IST

ग्वालियर। उत्तरप्रदेश में नशा तस्कर के ठिकाने से स्मैक की खेप लेकर निकला तस्कर अपने अडडे तक पहुंचे से पहले रास्ते में ही धर गया। उसे ग्वालियर पुलिस ने बरेठा पुल के पास पकड लिया। इसके अलावा एक लोकल स्मैक पैडलर को भी पकडा। दोनों ने कुल जमा 12 लाख रू की स्मैक पकडी गई। दोनों खुद भी स्मैक के आदी हैं।


बुधवार को दो नशा तस्कर फिर धरे गए। इन्हें क्राइम ब्रांच ने पकडा है। इनमें एक रीवा का रहने वाला मनीष आर्य है। जबकि दूसरा तस्कर किला गेट का पप्पू उर्फ लक्ष्मीनारायण रजक है। पुलिस ने बताया मनीष्ज्ञ आर्य मैनपुरी से 80 ग्राम स्मैक लेकर आया था। यहां बरेठा पुल के पास बस से उतरा उसे ट्््रेन से रीवा जाना था। लेकिन उससे दुश्मनी रखने वालों ने उसके बारे में पुलिस को इनपुट दे दिया। इसलिए मनीष को घेर लिया।

मनीष ने खुलासा किया वह भी स्मैक पीता है। रीवा में नशेबाजों की टोली का मेंबर है। उसका संपर्क यूपी के कुछ नशा कारोबारियों से है। इसलिए ग्रुप में शामिल नशेबाज चंदा कर उसे पैसा मुहैया कराते हैं। उनके लिए वह यूपी से स्मैक लेकर आता है। इसके अलावा नशे की कुछ खेप बेचने के लिए भी लाता है। इससे उसका नशेबाजी का खर्चा भी निकलता।
शहर में खपाता था नशा
बुधवार को क्राइम ब्रांच ने जालौन से 40 ग्राम स्मैक लेकर आए किलागेट निवासी पप्पू उर्फ लक्ष्मीनारायण रजक को पकडा। डीएसपी क्राइम विजय भदौरिया ने बताया कि नशा तस्कर इससे पहले भी यूपी से नशा लाता रहा है।

वह खुद भी नशेबाज है। यहां नशेडियों को स्मैक बेचता है। उसके बारे में पता चला था कि वह स्मैक की खेप लेकर आने वाला था। इसलिए उसे घेर लिया। दोनों तस्करों से उन लोगों के बारे में जानकारी मिली है जिनसे स्मैक खरीद कर लाए थे। दोनों तस्करों से पकडी गई स्मैक की कीमत १२ लाख है।

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned