बेटे से दुश्मनी मां को गोली मारकर हत्या

मौहल्ले में बर्चस्व की जंग पर वारदात
हत्या करने वालों ने दिया था चैलेंज घर आकर मारेंगे गोली

By: Puneet Shriwastav

Published: 06 Jan 2021, 01:52 AM IST

ग्वालियर। बेटे से दुश्मनी का बदला लेने आए गुंडों की गोली का निशाना बनी महिला की मंगलवार को मौत हो गई। जख्मी महिला ने तीन दिन बाद मंगलवार को दम तोड दिया।

हत्याकांड में पुलिस ने तीन बदमाशों को अरेस्ट किया है। उनसे वह पिस्टल भी मिल गई है जिससे महिला को गोली मारी थी। हत्या में शामिल चौथा बदमाश भूमिगत हो गया है।

उसे तलाशा जा रहा है। मृतका के परिजन वारदात से सहमे हैं। उनका कहना है कि हत्या करने वालों ने बेटे को धमकी दी थी कि घर आकर गोली मारेंगे। इसी चैलेंज पर वारदात की है।
न्यू नरसिंह नगर में तीन दिन पहले गोली लगने से जख्मी राजकुमारी राजपूत 47 ने मंगलवार को इलाज के दौरान दम तोड दिया। राजकुमारी पत्नी परम सिंह को घर के अंदर गुंडों ने गोली मारी थी। ह

त्याकांड की वजह राजकुमारी के बेटे विक्रम और उसी बस्ती में रहने वाले धीरज राठौर के बीच बर्चस्व की दुश्मनी है। दोनों रंजिश कई दिन पुरानी है।

तीन महीने पहले भी दोनों के बीच विवाद हुआ था। हावी होने के लिए दोनों ने एक दूसरे पर फायरिंग की थी। ४-५ दिन पहले धीरज के दोस्त शुभम त्यागी से विक्रम का झगडा हुआ था।

उसके बाद से धीरज का गुट विक्रम को तलाश रहा था। परम सिंह ने पुलिस को बताया कि बेटे के दुश्मनों ने उसे चैलेजं दिया था कि घर में आकर गोली मारेंगे। उसी को अंजाम देने धीरज, शुभम त्यागी, जयभान लोधी और उनका साथी 2 जनवरी की रात को घर पर आए थे।

इन लोगों से बचने के लिए विक्रम गांव चला गया था। वह तो मिला नही। राजकुमारी घर के गलियारे में बैठी आग ताप रही थीं। गुंडों ने बदला लेने के लिए उन्हें गोली मार दी।
दहशत फैलाने आए थे
राजकुमारी को गोली मारने के बाद सभी बदमाश अंडरग्राउंड हो गए थे। मगलवार को धीरज, शुभम और जयभान को पुलिस ने राउंडअप किया है। उनका चौथा साथी फरार है।

पकडे गए बदमाश पूछताछ में दलील दे रहे हैं कि उनका इरादा दहशत फैलाना है इसलिए विक्रम के घर पर गोली चलाई थी। उनसे गोली मारने में इस्तेमाल पिस्टल भी मिली है।

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned