ऊर्जा मंत्री का दावा फेल, खुद के शहर में दो बार गुल हुई बिजली

ऊर्जा मंत्री के शहर में सरकारी कार्यक्रम में दो बार बिजली गुल, मंत्री बोले, प्रदेश में कम है उत्पादन...>

By: Manish Gite

Published: 11 Sep 2021, 05:03 PM IST

 

ग्वालियर . प्रदेश में बिजली संकट नहीं होने को लेकर ऊर्जा मंत्री भले ही कोई भी दावा करें, लेकिन हकीकत बार-बार सामने आ जाती है। अब ऐसा ही उद्यानिकी राज्यमंत्री भारत सिंह कुशवाह के सरकारी कार्यक्रम में हुआ। कार्यक्रम के बीच दो बार बिजली गुल हुई। आखिरकार मंत्री कुशवाह ने स्वीकार किया कि प्रदेश में बिजली की समस्या है। उन्होंने कहा कि इसको मानने में कोई हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए। लेकिन सच यही है।

 

इससे पहले ऊर्जा मंत्री की मीटिंग के दौरान बिजली गुल होने पर एक अधिकारी पर गाज गिरी थी। इस बार शुक्रवार को बालभवन में उद्यानिकी विभाग की योजनाओं को लेकर स्वसहायता समूहों के कार्र्यक्रम में भी दो बार बिजली गुल हुई। पहली बार जब राज्यमंत्री कुशवाह स्व सहायता समूह की महिलाओं को जानकारी दे रहे थे, तब बिजली चली गई और पूरे हॉल में अंधेरा छा गया। करीब 5 मिनट बाद बिजली आ गई और कार्यक्रम फिर से शुरू हो गया।

 

 

दूसरी बार आठ मिनट तक हॉल में रहा अंधेरा

इसके बाद मंत्री अपनी बात पूरी करके डायस छोड़कर वापस सोफे पर बैठे तो महिलाओं को चेक वितरित करने का कार्यक्रम शुरू हुआ। इस कार्यक्रम की शुरुआत से पहले ही फिर से बिजली चली गई और करीब आठ मिनट बाद फिर से बिजली आई।

  • आमने- सामने
    ------------------------------

हाल में ऊर्जा मंत्री ने किया था इनकार

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने प्रदेश में बिजली संकट से इनकार किया था। उन्होंंने हाल में बयान दिया था कि बिजली की कोई कमी नहीं है। पर्याप्त बिजली है, इसलिए कहीं भी कोई कटौती नहीं की जा रही है।

 

राज्यमंत्री कुशवाह से जानिए हकीकत

राज्यमंत्री भारतसिंह कुशवाह ने कहा कि बिजली कटौती का कारण बिजली के उत्पादन में कमी है। प्रदेश में बारिश की कमी से कई डेम खाली हैं, जिसकी वजह से बिजली उत्पादन की निरंतरता में कमी आई है। प्रदेश सरकार आपूर्ति को पूरा करने के लिए उत्पादन बढ़ाएगी।

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned