सब्जी मंडी लगने से मेला ग्राउंड हुआ कबाड़, तीन माह में मेला तैयार होने में होगी मुश्किल

- मेला सचिव को शिवपुरी से जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र गुना का बना दिया है महाप्रबंधक, दूरी बढऩे ऐसे में और भी बढ़ जाएगी परेशानी
- सचिव के यहां नहीं होने के कारण मेला कर्मचारियों के वेतन तक के पड़ गए हैं लाले

By: Narendra Kuiya

Published: 18 Sep 2021, 10:59 AM IST

ग्वालियर. ग्वालियर व्यापार मेला इन दिनोंं भगवान भरोसे ही चल रहा है। दिसंबर से लगने वाले मेले के लिए तीन माह पूर्व से तैयारियां शुरू हो जाती हैं, पर अभी यहां के हाल काफी बुरे हैं। कोरोना काल के चलते शुरू किए गए सब्जी विक्रय केंद्र ने जहां मेले का हाल बुरा करके रख दिया है वहीं कार्यालय के कर्मचारी भी मनमानी करने में जुटे हैं। जिला व्यापार एवं केंद्र शिवपुरी के महाप्रबंधक का काम देखने वाले निरंजनलाल श्रीवास्तव को परिक्षेत्रीय उद्योग कार्यालय ग्वालियर का कार्यभार सौंपा गया था। इसके साथ ही उनके पास मेला सचिव का प्रभार भी था। पिछले साल का मेला खत्म होने के बाद मार्च माह से अब तक वे शिवपुरी में ही काम देख रहे थे। अब उद्योग संचालनालय ने श्रीवास्तव को जिला व्यापार एवं केंद्र गुना का महाप्रबंधक का कार्य सौंप दिया है। इसके साथ ही उन्हें परिक्षेत्रीय उद्योग कार्यालय ग्वालियर का काम भी देखना होगा। वहीं जिला व्यापार एवं केंद्र ग्वालियर के महाप्रबंधक का कार्यभार विनय तिवारी को दिया था, पर अभी तक उन्होंने ज्वॉइनिंग नहीं है। ऐसे में निरंजनलाल श्रीवास्तव को ही मेला सचिव का कार्यभार देखना होगा, लेकिन गुना में काम करते हुए मेला सचिव के काम पर काफी असर पड़ेगा। मेला सचिव के यहां नहीं होने से कर्मचारियों के वेतन तक के लाले पड़ गए हैं, अभी तक अगस्त माह का वेतन नहीं मिल सका है।

तीन महीने तो सुधार कार्यों में लग जाएंगे
व्यापार मेले में बनाए गए सब्जी विक्रय कें्रद ने मेले की हालत खराब करके रख दी है। दिसंबर से मेला शुरू होता है, इसमें तीन महीने का समय बचा है। तीन महीने का ये समय मेले के सुधार कार्यों में ही लग जाएगा। सब्जियों की खरीद-बिक्री के लिए आने वाले वाहनों ने मेले की दुकानों-कोठरी, सडक़, पेवर, कॉम्पलेक्स और चैंबरों को तहस-नहस कर दिया है।

कर्मचारी भी कर रहे हैं मनमानी
ग्वालियर व्यापार मेला सचिव निरंजनलाल श्रीवास्तव मार्च माह से मेला नहीं पहुंचने के कारण यहां के कर्मचारी भी मनमानी पर उतारु हैं। आलम यह है कि मेला प्राधिकरण कार्यालय में काम करने के लिए पहुंचने वाले कर्मचारियों का सुबह 10 से शाम 5 बजे का है, पर अधिकांश कर्मचारी दोपहर एक बजे तक कार्यालय पहुंच रहे हैं। मेला सचिव के कार्यालय में नहीं बैठने से किसी भी तरह का पत्राचार भी नहीं हो पा रहा है, साथ ही इस बार के मेले के लिए दुकानों का आरक्षण भी नहीं हो रहा है।

जरूरी काम शुरू कराएंगे
हमें जिला व्यापार एवं केंद्र गुना के महाप्रबंधक सहित परिक्षेत्रीय उद्योग कार्यालय ग्वालियर का कामकाम भी देखना है। फिलहाल जिला व्यापार एवं केंद्र ग्वालियर के महाप्रबंधक विनय तिवारी ने कार्यभार नहीं लिया है, तब तक मेला सचिव का कामकाज भी देखना पड़ेगा। मेला कर्मचारियों का वेतन एक-दो दिन में निकल जाएगा। इसके साथ ही मेला में सुधार कार्यों के लिए मंडी कमेटी और पीडब्ल्यूडी को वास्तविक आंकलन के लिए चिट्ठी लिखी गई है। मेले की तैयारियों के लिए जरूरी काम शुरू कराए जाएंगे।
- निरंजनलाल श्रीवास्तव, सचिव, ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned