मंगेतर से मिलने चाहत में इस युवक के साथ हुआ ऐसा की, सोचने पर मजबूर हो जाऐेंगे आप

Gaurav Sen

Publish: Oct, 12 2017 03:42:45 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
मंगेतर से मिलने चाहत में इस युवक के साथ हुआ ऐसा की, सोचने पर मजबूर हो जाऐेंगे आप

एनसीसी ग्रुप हैड क्वार्टर (कंपू) में सेना का कैप्टन बनकर घुसा फरेबी पकड़ा गया है। उससे सेना की आईडी और कैंटीन का फर्जी कार्ड मिला है।

ग्वालियर। एनसीसी ग्रुप हैड क्वार्टर (कंपू) में सेना का कैप्टन बनकर घुसा फरेबी पकड़ा गया है। उससे सेना की आईडी और कैंटीन का फर्जी कार्ड मिला है।

 

फरेबी खुलासा कर रहा है कि उसकी मंगेतर ग्रुप है डक्वार्टर में ट्रेनी कैडिट है, उससे मिलने आया था, लेकिन खुफिया एजेंसी उसकी बात पर भरोसा नहीं कर रही है क्योंकि उसके पिता और रिश्तेदार वायुसेना और थलसेना में पदस्थ हैं। खूफिया एजेंसी उसका इतिहास खंगाल रही हैं। एटीएस और एसटीएफ ने उस युवती को भी थाने बुलाकर पूछताछ की जिससे मिलने के लिए आरोपी फर्जी कैप्टन बनना बता रहा है।


सूबेदार मेजर जसवंत सिंह ने पुलिस को बताया बुधवार दोपहर करीब दो बजे विपिन (21) पुत्र शैलेन्द्र चौहान निवासी बंशीपुरा मुरार सेना का कैप्टन बनकर ग्रुप हैडक्वार्टर में घुस आया। गेट पर कैडिटों को चकमा देकर विपिन बाइक से अंदर फील्ड तक पहुंच गया। अनजान को हैडक्वार्टर में घूमते देख उन्होंने टोका तो विपिन ने खुद को सेना का कैप्टन बताया। उससे आईडी मांगा तो उसने वोटर कार्ड और थलसेना के कैप्टन का जीए ०५१ २१ ४८ ४३ ११२०२वाय०० नंबर का कार्ड दिखाया। डुप्लीकेट आईडी दिखा तो उसे पकड़ लिया। उसे पकड़ कर कंपू पुलिस के हवाले कर दिया। कंपू टीआई महेश शर्मा का कहना है विपिन पर कूटरचित दस्तावेज बनाने का मामला दर्ज किया है। खुफिया एजेंसियां उसके बारे में जानकारी जुटा रही हैं।

यह सुनाई कहानी
एनसीसी हैड क्वार्टर में घुसपैठ का पता चलने पर एटीएस सहित आर्मी इंटेलीजेंस अधिकारी पूछताछ करने पहुंचे। उसने बताया उसकी मंगेतर एनसीसी हैडक्वार्टर में कैडिट है। उससे ही मिलने आया था। मंगेतर और उसके परिवर को भी वह कैप्टन बनकर धोखा दे रहा है। इसी बूते पर शादी तय हुई है। खुफिया एजेंसियां विपिन की बात पर पूरी तरह भरोसा नहींं कर रही हैं, उनका कहना है विपिन के पिता वायुसेना से रिटायर हैं और अब उसकी समकक्ष डीएससी विंग में पदस्थ हैं। विपिन का भाई और जीजा भी सेना में हैं। उसके बावजूद विपिन सेना के फर्जी आईडी और दस्तावेज बनाकर धोखा क्यों दे रहा है। उसका असली मकसद क्या है इसकी देर रात तक पूछताछ चलती रहीं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned