नशेड़ी बाप ने नाबालिग बेटी के साथ की हैवानियत की हदें पार, बेटी चिल्लाई तो पीटा और करता रहा घिनौनी हरकत

बेटी के लिए उसका पिता का साया उसकी सबसे पहलही सुरक्षा होता है,लेकिन बीते रोज शहर में एक ऐसा घिनौना वाकया सामने आया, जिसे सुनकर आप अंदर तक हिल जाएंगे।

By: shyamendra parihar

Published: 11 Sep 2017, 11:35 AM IST

ग्वालियर। बेटी के लिए उसका पिता का साया उसकी सबसे पहलही सुरक्षा होता है,लेकिन बीते रोज शहर में एक ऐसा घिनौना वाकया सामने आया, जिसे सुनकर आप अंदर तक हिल जाएंगे। शहर में एक कलयुगी पिता ने अपनी १४ साल की नाबालिग बेटी को अपनी हवस का शिकार बनाया।

 

MUST READ : खंभे पर चढ़े युवक को लगा करंट, 5 घंटों तक तार पर लटकती रही उसकी लाश, मौत का ये मंजर दिल दहला देगा

 

 

बाप-बेटी के रिश्तों को कलंकित करते हुए नशेड़ी बाप ने नाबालिग बेटी को कमरे में बंद कर उसके साथ दुष्कर्म कर दिया। बेटी बचने के लिए चिल्लाने तो उसे जमकर पीटा। बाद में धमकी दी कि किसी को बताया तो जान से मार देगा। घटना के बाद पीडि़ता महाराजपुरा थाने पहुंची और मामला दर्ज कराया।

पुलिस के मुताबिक रसुलपर निवासी १४ साल की बेटी के साथ पिता ओमप्रकाश ने दुष्कर्म किया। पीडि़ता सुबह घर में कपड़े धो रही थी। तभी ओमप्रकाश आकर उससे खाना मांगने लगा। बेटी ने कहा कपड़े धोकर देगी। इस पर ओमप्रकाश भड़क गया। उसे जबरन कमरे में ले गया। छोटे-बहन भाई ने रोका तो उन्हें धमकाकर भगा दिया। कमरे के दरवाजे की कुंदी अंदर से बंदकर बेटी को पलंग पर पटक दिया। बेटी चिल्लाती रही, लेकिन नशेड़ी पिता उसे पीटता रहा। उसकी चीखें कमरे में दबकर रह गई।

यहां भी नाबालिग से हुआ दुष्कर्म
ग्वालियर के देहात में आने वाले पनिहार थाने की हद में आने वाले एक गांव में युवक ने नाबालिग के साथ रेप कर डाला। युवक नाबालिग लड़की को अगवा करके लाया था। अगवा पार गांव(पनिहार) से नाबालिग लड़की को युवक अगवा करके ले गया। उसे डबरा में एक मकान में रखा जहां उसके साथ दुष्कर्म किया। किसी तरह लड़की उसके चंगुल से छूटकर घर आई। परिजन उसे थाने लेकर पहुंचे और मामला दर्ज कराया। पुलिस के मुताबिक पीडि़ता १७ साल की है। ६ सिंतबर को उसे भितरवार का जीतू उर्फ जीतेन्द्र बाइक पर बैठाकर ले गया।

Show More
shyamendra parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned