लाइफ को हैप्पी बनाने के लिए हर चीज में खोजें खुशी

आप आगे तभी बढ़ पाएंगे, जब आपके पास तनाव नहीं होगा। स्ट्रेस को दूर करने के लिए आपको अपनी लाइफ को हैप्पी बनाना होगा। इसके लिए हर एक छोटी खुशी को बड़ा बनाएं। छोटी-छोटी चीजों पर खुशियां ढूंढ़ें। इससे आपकी लाइफस्टाइल बदल जाएगी।

By: Harish kushwah

Published: 07 Jul 2019, 12:40 AM IST

ग्वालियर. आप आगे तभी बढ़ पाएंगे, जब आपके पास तनाव नहीं होगा। स्ट्रेस को दूर करने के लिए आपको अपनी लाइफ को हैप्पी बनाना होगा। इसके लिए हर एक छोटी खुशी को बड़ा बनाएं। छोटी-छोटी चीजों पर खुशियां ढूंढ़ें। इससे आपकी लाइफस्टाइल बदल जाएगी। यह बात स्पीकर के रूप में उपस्थित दिल्ली से रीजनल पीएफ कमिश्नर रिजवानुद्दीन ने मोटिवेशनल टॉक के दौरान कही। यह प्रोग्राम क्वालिटी सर्कल फोरम ऑफ इंडिया (क्यूसीएफआई) के ग्वालियर चेप्टर की ओर से आयोजित किया गया था। इस दौरान क्यूसीएफआई के पदाधिकारियों द्वारा ग्वालियर चेप्टर का कन्वेंशन 14 सितंबर को एबीवी ट्रिपल आईटीएम में कराने की सहमति बनी। साथ ही कई बिंदुओं पर डिस्कशन भी हुआ। इस अवसर पर स्कूल स्टूडेंट्स, इंडस्ट्री के मेंबर्स व क्यूसीएफआई के पदाधिकारी मौजूद रहे।

वर्किंग प्लेस तक साइकिल में जाएं

रिजवानुद्दीन ने कहा कि बिजी लाइफ स्टाइल में स्वस्थ रहना जरूरी है। इसके लिए आप व्यायाम करें। यदि एक्सरसाइज का समय नहीं है, तो ऑफिस, शैक्षणिक संस्थान एवं शॉप तक साइकिल से जाएं। इससे आप पर्यावरण को भी सुरक्षित रख सकेंगे और खुद हेल्दी भी रह सकेंगे।

सीनियर सिटीजन की करें मदद

याद रहे आप समाज का अंग हैं। इसलिए अपना कॅरियर बनाने के साथ ही आपको लोगों की मदद भी करना है। इसकी शुरुआत आपको अपने घर से करनी होगी। अपने पैरेंट्स, ग्रांडफादर की सेवा करें। जहां भी कोई बुजुर्ग दिखे, उसकी मदद के लिए जरूर आगे आएं। इससे आपको आत्मिक संतुष्टि होगी। इस अवसर पर एबीवी ट्रिपल आईटीएम के डायरेक्टर डॉ एसजी देशमुख, गोदरेज से अविनाश मिश्रा, प्रेस्टीज कॉलेज के डायरेक्टर एसएस भाकर, अविनाश उपाधयाय, संतोष पाठक, सुनील श्रीवास्तव सहित ग्वालियर ग्लोरी, एसकेवी, बीवीएम स्कूल एवं इंडस्ट्री से लोग उपस्थित रहे।

सफल होने के लिए सेट करें गोल

स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि आप शॉर्ट टर्म गोल और लॉन्ग टर्म गोल सेट करें और उसे लिखकर अपनी टेबल के नीचे रख लें, जिससे आपको हमेशा याद बनी रहे। अब उस गोल के पीछे पूरी तैयारी के साथ लग जाएं। याद रहे आपको तब तक नहीं रुकना है, जब तक की आप अपने लक्ष्य को ना पा लें।

Harish kushwah
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned