राष्ट्रपिता पर अपमानजनक टिप्पणी कर गोडसे की आरती उतारी, एफआईआर

ग्वालियर में बापू को लेकर पर्चे बांटे जाने से मुख्यमंत्री कमलनाथ नाराज, आरोपी के खिलाफ कार्रवाई के दिए निर्देश, हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता की तलाश में पुलिस

ग्वालियर . राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने और नाथूराम गोडसे का बलिदान दिवस मनाने वाले हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता नरेश बाथम के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। शनिवार को कांग्रेस सचिव रविंद्र सिंह चौहान की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है। इधर, गोडसे की फोटो पर माल्यार्पण कर महात्मा गांधी के बारे में अभद्र शब्दों का इस्तेमाल करते हुए पर्चे बंटवाने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी नाराजगी जाहिर की है। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में कहा कि प्रदेश सरकार यह कतई बर्दाश्त नहीं करेगी कि राष्ट्रपिता के हत्यारे को पूजा जाए। उन्होंने भी पुलिस व प्रशासन को इस कृत्य को अंजाम देने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

ग्वालियर में लोगों के बीच बांटे गए पर्चे!

शुक्रवार को हिन्दू महासभा ने यहां दौलतगंज स्थित कार्यालय में 15 नवंबर को नाथूराम गोडसे का बलिदान दिवस मनाया। महासभा कार्यकर्ताओं ने गोडसे की तस्वीर पर माल्यार्पण कर आरती उतारी थी। इन पर आरोप है कि इन्होंने महात्मा गांधी को लेकर अपशब्दों का इस्तेमाल किया। साथ ही राष्ट्रपिता के हत्यारे गोडसे के अदालत में दिए अंतिम बयान को स्कूल पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग उठाई। इसके अलावा गोडसे की जब्त मूर्ति वापस दिलाने की मांग भी की गई। इस बात को लेकर कांग्रेस कमेटी के सचिव ने कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई है। उनका कहना था कि लोगों के बीच बांटे गए पर्चे से गांधीवादी विचारधारा में आस्था रखने वालों को ठेस पहुंची है। पुलिस ने हिन्दू महासभा के नरेश बाथम व अन्य के खिलाफ धारा 153-ए के तहत मामला दर्ज किया है।

मुख्यमंत्री ने जताई नाराजगी, बोले-भाजपा ने बर्दाश्त किया मैं नहीं करूंगा
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे का बलिदान दिवस मनाए जाने की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री ने नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने गोडसे समर्थकों की ओर से बांटे गए पर्चों में राष्ट्रपिता के बारे में आपत्तिजनक बातें लिखने को भी गंभीरता से लिया। तभी मुख्यमंत्री ने पुलिस व प्रशासन को गोडसे की जयंती मनाने वालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले ग्वालियर में ही कुछ लोगों द्वारा भाजपा सरकार में गोडसे की मूर्ति लगाने के प्रयास भी हुए थे। लेकिन भाजपा सरकार ने गोडसे समर्थकों के कृत्य को बर्दाश्त कर लिया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के देश हित में किए योगदान, त्याग व बलिदान को सारा विश्व जानता है। उनके हत्यारे को कोई देशभक्त बताए, उसे में भी कभी दिल से माफ नहीं कर सकता। मै नहीं कोई भी गांधी जी के हत्यारे को पूजने वालों को या उसे देशभक्त बताने वालों को माफ नहीं कर सकता है।

शिकायत : समाज की भावनाएं आहत हुईं
पुलिस में की गई शिकायत में लिखा है कि बाथम के कृत्य से गांधीवादी विचारधारा को मानने वालों की भावनाएं आहत हुई हैं। दौलतगंज में बांटे गए पर्चे में जो लिखा गया उससे जनाक्रोश पनपा है। इससे समाज के सौहार्द पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

मंत्री और विधायक भी बापू को भूले
शिकायतकर्ता रविन्द्र सिंह चौहान एफआइआर का काम शहर जिला कांग्रेस कमेटी को करना चाहिए था। जिले में कांग्रेस के 3 मंत्री और 2 विद्यायक है। लेकिन किसी को याद नही आई। ऐसा लगता है राष्ट्रपिता को भूल चुके है। तब मूझे मजबूरन कदम उठाना पड़ा। इधर, कोतवाली थाना टीआई विवेक अष्ठाना का कहना है कि नरेश को गिरफ्तार करने के लिए उसके घर और कुछ अन्य ठिकानों पर दबिश दी लेकिन वह मिला नहीं। पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है। विवेचना में जिन और लोगों के नाम सामने आएगे उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Nitin Tripathi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned