सुपर स्पेशलिटी के आईसीयू वार्ड में लगी आग, दो मरीज झुलसे, दहशत में परिजन

अस्पताल में तैनात कर्मचारियों ने अग्रिशमन यंत्र के माध्यम से आग पर काबू पाने की कोशिश की

 

By: monu sahu

Updated: 21 Nov 2020, 09:05 PM IST

ग्वालियर. जेएएच के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में शनिवार दोपहर दो बजे शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। आग चौथी फ्लोर के आईसीयू में लगते ही अफरा- थफरी मच गई। यहां पर नौ मरीज भर्ती थे। आग को देखकर अस्पताल में तैनात कर्मचारियों ने अग्रिशमन यंत्र के माध्यम से आग पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन धुंआ ज्यादा उठते देख फायर बिग्रेड को सूचना दी गई। इसके बाद मौके पर एक साथ दो फायर बिग्रेड पहुंच गई। कोरोना संक्रमित मरीजों को बाहर निकालने में दो मरीज झुुलस गए। जिनका उपचार किया जा रहा है। अंचल के सबसे बड़े अस्पताल जेएएच के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है। यहां पर शनिवार को 53 मरीज मरीज भर्ती थे। जिसमें से आईसीयू में 9 मरीजों का इलाज चल रहा था। आईसीयू में रखा एक वेटीलेंटर भी जल गया है। वहीं सभी नौ मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर है।

fire in jh hospital covid 19 ward in gwalior

सीलिंग लाईट में शार्ट सर्किट से हुआ धुआ
आईसीयू में सीलिंग लाईट में शॉर्ट सर्किट से प्लास्टिक का हिस्सा मरीज के पलंग पर आकर गिरा। जिससे मरीज के दो पलंग काफी मात्रा में जल गए। आग लगने के साथ ही थर्ड फ्लोर पर धुंआ भर गया। इसके चलते मरीजों के साथ अन्य स्टाफ भी परेशान हो गया । हालात यह हो गए कि आग की खबर फैलते ही मरीजों के परिजन भी इधर- उधर से अस्पातल तक पहुंचने लगे।

"सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में शॉर्ट सर्किट से आग लगी थी। जिसमें एक या दो मरीज हल्के से झुलसे है। इनका इलाज किया जा रह है। इसको लेकर जांच के आदेश दे दिए गए है।"
किशोर कन्याल, एडीएम

"शॉर्ट सर्किट से एक मरीज झुलसा है। आग कैसे लगी इसकी जांच होगी। इसके साथ ही हमने पार्किंग में फायर बिग्रेड की गाड़ी खड़ी करने की मांग कलेक्टर से की है। जिससे कोई घटना होने से पहले उस पर काबू पाया जा सके।"
डॉ. आरकेएस धाकड़, अधीक्षक जेएएच

fire in jh hospital covid 19 ward in gwalior

उच्च स्तरीय जांच हो: सिकरवार

  • जेएएच परिसर में स्थित सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल के कोविड वार्ड में शनिवार दोपहर लगी आग की उच्च स्तरीय जांच के लिए विधायक सतीश सिंह सिकरवार ने संभागीय आयुक्त को पत्र लिखा है।
  • विधायक ने पत्र के माध्यम से मांग की है कि सुपर स्पेशलिटी वार्ड अभी बनकर तैयार हुआ है। इसलिए इन बिंदुओं की जांच की जाए।
  • अस्पताल के लाइट फिंटिग की गई उसकी गुणवता की जांच कराई जाए। क्योंकि अभी नया लाइट फिंटिग का कार्य हुआ है।
  • जिस कंपनी ने फायर सिस्टम लगाया गया है। उस सिस्टम की जांच कराया जाना चाहिए। क्योंकि आग लगने के दौरान फायर सिस्टम को चालू किया गया। लेकिन वह चालू नहीं हुआ।
  • कोविड-19 से पीडि़त मरीज भर्ती होने के लिए अस्पताल पहुंचा उसे लगभग डेढ़ घंटे के बाद जब भर्ती किया गया। कोविड-19 से पीडित मरीजों को तत्काल भर्ती कराये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

फायर बिग्रेड की मांग अधीक्षक ने की
आग लगने के बाद जेएएच के अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ ने कलेक्टर से मांग करते हुए कहा है कि सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल कोरोना समर्पित अस्पताल होने के कारण पार्किंग स्थल चिन्हित कर 24 घण्टे फायर बिग्रेड की उपलब्धता होना चाहिए। इसके साथ ही साथ ही कलेक्टर एवं लोक निर्माण विभाग को उच्च स्तरीय टीम भेजकर विद्युत शार्ट सर्किट का पता लगाकर भविष्य में इस तरह की दुखद घटना की पुनरावृति न हो पाए। वहीं जेएएच में व्यवस्था संभाल रही हाईट्स कंपनी के प्रबंधक को चीफ सिक्यूरिटी ऑफिसर एवं समस्त सिक्यूरिटी ऑफिसर को वॉकी-टॉकी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए । ताकि भविष्य में इस तरह की घटना होने पर उनके द्वारा संबंधित अधिकारियों को तत्काल सूचना देने की कार्यवाही की जा सके ।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned