महंगा पड़ेगा इस बार का शिवरात्रि व्रत, पाकिस्तान से विवाद बना कारण

महंगा पड़ेगा इस बार का शिवरात्रि व्रत, पाकिस्तान से विवाद बना कारण

By: Gaurav Sen

Published: 03 Mar 2019, 01:47 PM IST

ग्वालियर। महाशिवरात्रि के मौके पर सभी का मन भोले बाबा की भक्ति कर उनके लिए व्रत-उपवास करने का होता है। इस बार शिवरात्रि के मौके पर उपवास के उपयोग में आने वाले फलाहार के दाम गत वर्ष से कम हैं। साबुत सिंघाड़े की अगर बात की जाए तो पिछली महाशिवरात्रि से इस बार यह 50 रुपए और कूटू 40 रुपए किलो तक कम हो गया है। हालांकि राजगिरा और मोरधन के दामों में थोड़ी तेजी है। फलाहार कारोबारियों के मुताबिक फलाहार की बिक्री इस साल कम ही है।

पाक से विवाद का असर
व्रत-उपवास पर साधारण नमक की जगह सेंदा नमक उपयोग में लाया जाता है। इस साल सेंदा नमक के दाम दोगुने हो चुके हैं। पाकिस्तान से विवाद के बाद वहां से आने वाले सेंधा नमक पर ड्यूटी 200 फीसदी बढऩे के कारण ऐसा होना बताया जा रहा है। सेंधा नमक के दाम कुछ दिन पूर्व तक 20 रुपए किलो थे वह अब 40 रुपए किलो बिक रहा है।

संघ का सबसे बड़ा जमावड़ा : लोकसभा के लिए शुरू हुआ मंथन, 10 दिन ग्वालियर में रहेंगे मोहन भागवत

फलाहार के दाम

 

सामान इस वर्ष के दाम पिछले वर्ष के भाव पिसा आटा
साबुत सिंघाडा 100 रुपए 150 रुपए 150-200 रुपए
साबुत कूटू 60 रुपए 100 रुपए 150-220 रुपए
साबुत राजगिरा 150 रुपए 90 रुपए 200-150 रुपए
साबुत मोरधन 100 रुपए 80 रुपए -

रविवार से बढ़ेगी बिक्री
शहर में उपवास के दौरान सिंघाड़ा और कूटू का सबसे अधिक उपयोग होता है। पिछले साल से इस वर्ष इनके दाम कम हैं, लेकिन फिर भी बिक्री अधिक नहीं है। रविवार को बिक्री बढऩे की उम्मीद है। सेंधा नमक के दाम दोगुने हो चुके हैं।
पारस जैन, फलाहार के थोक कारोबारी

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned