‘अमृत योजना’ के कारण गंदा पानी पीने को मजबूर

शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नलों में गंदा पानी आ रहा है। पीएचई द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है। कई महीनों से स्थिति खराब है। इसके बावजूद कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई।

ग्वालियर. शहर में लोगों को साफ पानी सप्लाई करने का निगम अधिकारी दावा तो कर रहे है,ं लेकिन यह सिर्फ दिखावा है। दरअसल शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नलों में गंदा पानी आ रहा है। पीएचई द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है। कई महीनों से स्थिति खराब है। इसके बावजूद कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। यहां तक कि खुद मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने गंदे पानी का सैंपल निगम कमिश्नर संदीप माकिन को उनके घर जाकर सौंपा था। इसके बावजूद स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। गोल पहाडिय़ा क्षेत्र में एक महीने से गंदे पानी की समस्या बनी हुई है।
सीवर ओवरफ्लो होने से घरों में घुस रहा गंदा पानी
गो ल पहाडिय़ा में करीब एक महीने से गंदे पानी की समस्या है। इसको लेकर रहवासियों ने शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। कॉलोनी निवासी सोनू पाल का कहना है कि इस क्षेत्र में एक महीने से नलों में गंदा पानी आ रहा है, इसको लेकर कई बार अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती।
क्षेत्र में लोगों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है जिसके कारण वह बाजार से खरीदकर पानी नहीं पी सकते हैं। स्थिति यह है कि लोगों को काफी दूर से पानी भरकर लाना पड़ता है। गंदे पानी के कारण क्षेत्र में कई लोग बीमार हो रहे हैं। लोगों को पीलिया, पेट दर्द आदि शिकायत हो रही हैं। इसके बावजूद अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। इसके अलावा क्षेत्रीय विधायक भी अभी तक समस्या के समाधान के लिए कोई प्रयास नहीं किए हैं। यह हाल तब है जबकि शहर में अमृत योजना के तहत करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं।
पानी की नई पाइपलाइन डालने की बात कही जा रही है, लेकिन इसका लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है। सीवर ओवर फ्लो होने के कारण नलों में गंदे पानी की समस्या आ रही है। सीवर की सही ढंग से सफाई तक नहीं की जा रही है। बारिश के समय तो हालात और भी खराब हो जाते हैं। घरों तक सीवर का पानी घुस जाता है।

Show More
राजेश श्रीवास्तव
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned