चार दिवसीय बिटिया उत्सव पांच मार्च से, कला, साहित्य जगत की हस्तियां करेंगी शिरकत

four days bitiya utsav held in gwalior on 5th march : प्रदेश स्तरीय बिटिया उत्सव का आयोजन पांच मार्च से किया जा रहा है। इसमें कला, साहित्य और नाट्य क्षेत्र की प्रतिभाओं का संगम होगा।

By: Gaurav Sen

Published: 18 Feb 2020, 02:20 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर समारोह में महात्मा गांधी की पत्नी कस्तूरबा गांधी के व्यक्तित्व के अनछुए पहलू सुनने और देखने को मिलेंगे। आयोजन में चारों दिन अनवर, अशोक भौमिक, अंजलि इला मेनन सहित देश के 10 बड़े चित्रकार पेंटिंग बनाएंगे। जबकि जहन समूह द्वारा कविताओं का नाट्य मंचन किया जाएगा। अभिनेत्री शाश्विता शर्मा कहानी का मंचन करेंगी।

प्रदेश स्तरीय बिटिया उत्सव का आयोजन पांच मार्च से किया जा रहा है। इसमें कला, साहित्य और नाट्य क्षेत्र की प्रतिभाओं का संगम होगा। महिला बाल विकास विभाग द्वारा जीवाजी विश्वविद्यालय के गालव सभागार में होने वाले इस चार दिवसीय आयोजन में लखनऊ का शीरोज ग्रुप तेजाब पीडि़त महिलाओं के संघर्ष की कहानी बताएगा। यह वही ग्रुप है, जिनके संघर्ष से प्रेरित होकर छपाक फिल्म बनी है। इसके अलावा भारतीय वायुसेना में फ्लाइट लेफ्टिनेंट अवनि चतुर्वेदी और अभिनेत्री स्वरा भास्कर भी अपने अनुभव शेयर कर स्त्री का संघर्ष बताएंगी।

पुस्तक मेला लगेगा
समारोह में राजकमल, आधार, एनबीटी, सामायिक सहित देश के नामचीन प्रकाशनों के स्टॉल के साथ बुक फेयर भी लगेगा और स्थानीय महिलाओं द्वारा तैयार किए गए उत्पादों के स्टॉल भी लगाए जाएंगे। इस तरह होंगे आयोजन -

05 मार्च

  • आयोजन की शुरुआत सुबह 11 बजे महिला बाल विकास मंत्री इमरतीदेवी सुमन, महिला एयरफोर्स की महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट अवनि चतुर्वेदी, अमृता राय और मेघा परमार करेंगी।
  • दोपहर 1 बजे पत्रकारिता विषय पर अमृता राय, सर्वप्रिय सांगवान, बृजेश राजपूत, प्रकाश केरे की चर्चा होगी।
    दोपहर 3.30 बजे स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा की प्रस्तुति होगी।
  • शाम 7 बजे परिवर्तन समूह द्वारा पहियों पर चढ़े सुख नाटक का मंचन होगा।

06 मार्च

  • सुबह 11 बजे अभिनेत्री स्वरा भास्कर से सौरभ द्विवेदी, मधु चौगांवकर और जेडी सुरेश तोमर की चर्चा होगी।
  • दोपहर 1 बजे कस्तूरबा गांधी की 150 वीं जयंती पर उनके व्यक्तित्व और योगदान पर वरिष्ठ आइपीएस अनुराधा शंकर सिंह से अव्यक्त की चर्चा होगी।
  • दोपहर 3.30 बजे मनीषा कुलश्रेष्ठ, वंदना राग, किरण सिंह और लक्ष्मी शर्मा का कहानी पाठ होगा।
  • शाम 7 बजे जबलपुर के आशीष पाठक और समूह द्वारा अगरबत्ती नाटक का मंचन किया जाएगा।

07 मार्च

  • सुबह 11 बजे बेटियों से जमाना, विषय पर सिने निर्देशक अविनाश दास से चर्चा होगी।
  • दोपहर 1 बजे भारत में मुस्लिम महिलाएं बयान, हालात और चुनौतियां विषय पर नाइस हसन, सदफ जफर, सबीहा और दीबा नियाजी की चर्चा होगी।
  • दोपहर 3.30 बजे अशोक बाजपेई, अनामिका, नीलेश रघुवंशी, चेतन क्रांति, वीरू सोनकर कविता पाठ करेंगे।
  • शाम 7 बजे त्रिकर्षि समूह द्वारा रुदाली नाटक का मंचन किया जाएगा।

08 मार्च

  • तेजाब पीडि़त समूह शीरोज (लखनऊ) के संघर्ष पर चर्चा होगी।
  • दोपहर 1 बजे महिलाओं के अधिकार और कानून विषय पर कानूनविद अरविंद जैन से चर्चा करेंगे।
  • दोपहर 3.30 बजे महिलाओं की स्थिति दिशा और दशा विषय पर रितिका खेड़ा से सचिन जैन की बातचीत होगी।
  • शाम 7 बजे एक अंजान औरत का खत नाटक का मंचन प्रसिद्ध रंगकर्मी उत्तरा बावकर के समूह द्वारा किया जाएगा।

उत्सव के चारों दिन होंगे अलग-अलग आयोजन

महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित किया जाने वाला यह पांचवा बिटिया उत्सव है। उत्सव में चारों दिन अलग-अलग आयोजन होंगे। आयोजन में स्त्री संघर्ष, कामयाबी, कला, साहित्य और विचार का संगम देखने को मिलेगा।
सुरेश तोमर, संयुक्त संचालक-महिला बाल विकास

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned